अशोक गहलोत का जीवन परिचय | Ashok Gehlot Biography In Hindi

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

अशोक गहलोत की जीवनी, उम्र, परिवार, राजनीतिक सफर, विवाद, करियर, पत्‍नी, बच्‍चे (Ashok Gehlot Biography in Hindi, Age, Family, Political Career, Controversy)

अशोक गहलोत भारतीय राजनीतिज्ञ और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सबसे सीनियर नेताओं में से एक है वर्तमान में वह राजस्थान के मुख्यमंत्री है इससे पहले भी वह दो बार वर्ष 1998 और 2008 में मुख्यमंत्री नियुक्त हो चुके हैं इस प्रकार अशोक गहलोत इस बार तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री के पद पर आसीन हुए हैं।

साधारण परिवार से निकले अशोक गहलोत कांग्रेस के राष्ट्रीय चेहरों में से एक गिने जाते हैं उनके प्रतिद्वंद्वीयों में सीपी जोशी और अब सचिन पायलट का नाम लिया जाता है।

इनकी गिनती राजस्थान के प्रमुख नेताओं में होती है आज के इस लेख अशोक गहलोत के जीवन परिचय (Ashok Gehlot Biography In Hindi) में उनके जीवन के विभिन्न पहलुओं के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं–

अशोक गहलोत का जीवन परिचय | Ashok Gehlot Biography In Hindi

अशोक गहलोत का जीवन परिचय

नाम (Name)अशोक गहलोत
उपनाम (Nick Name)गिल्ली बिली
जन्म (Date of Birth)3 मई 1951
उम्र (Age)72 वर्ष (2023)
जन्म स्थान (Birth Place)महामंदिर, जोधपुर (भारत)
शिक्षा (Education)एलएलबी, बीएससी, m.a. (अर्थशास्त्र)
कॉलेज (College)जोधपुर विश्वविद्यालय, राजस्थान
राशि (Zodiac Sign)वृषभ
धर्म (Religion)हिंदू
जाति (Cast)पिछड़ा ‘माली’ ,(माली) समुदाय (ओबीसी)
गृह नगर (Home Town)महामंदिर, जोधपुर, भारत
नागरिकता (Nationality)भारतीय
वजन (Weight)75 किलोग्राम
लंबाई (Height)5 फीट 7 इंच
आंखों का रंग (Eyes Colour)
बालों का रंग (Hair Colour)सफेद एवं काला
पेशा (Profession)छात्र राजनीति ,राजनीतिक और सामाजिक कार्यकर्ता
प्रसिद्धि (Famous for)राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री होने के नाते
राजनीतिक दल (Political party)भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
वैवाहिक स्थिति (Marrital Status)विवाहित
विवाह की तारीख (Marriage Date)27 नवंबर 1977

अशोक गहलोत कौन है? (Who is Ashok Gehlot)

अशोक गहलोत एक भारतीय राजनेता है जो राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में सेवारत हैं। उनका जन्म 3 मई 1951 को हुआ था। उन्होंने दिसंबर 1998 से 2003 तक और 2008 से 2013 तक फिर 17 दिसंबर 2018 से इस पद पर हैं। अशोक गहलोत राजस्थान के विधायक के रुप में जोधपुर के सरदारपुरा निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं।

अशोक गहलोत का जन्म एवं शुरुआती जीवन

भारतीय राजनीति के कद्दावर नेता अशोक गहलोत का जन्म 3 मई 1951 को राजस्थान के जोधपुर जिले में रहने वाले एक साधारण से माली परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम लक्ष्मण सिंह गहलोत था जो उस समय अब जाने-माने जादूगर हुआ करते थे और देश के अलग-अलग हिस्सों में घूम-घूम कर जादू दिखाने का काम करते थे।

उनकी माता का नाम सेवा देवी था और उनके दो भाई अग्रसेन गहलोत और कंवर सेन गहलोत हैं जिनमें से कारसेन गहलोत का निधन 2018 में हो चुका है अशोक गहलोत की एक बहन है जिनका नाम विमला देवी है।

अशोक गहलोत भी अपने पिता के साथ उनके कार्यक्रमों में हिस्सा लिया करते थे यही कारण है कि उनको देश के अलग-अलग हिस्सों में रहने वाले लोगों के रहन-सहन व रीति-रिवाजों के बारे में बहुत अनुभव है क्योंकि उन्हे बाल्यकाल और फिर युवाकाल में भी उन लोगों के बीच समय बिताने का अवसर मिला है।

अशोक गहलोत की शिक्षा (Ashok Gehlot Education)

अशोक गहलोत ने अपनी आरंभिक शिक्षा जोधपुर से ही पूरी की है उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा जोधपुरी स्कूल से लेने के बाद जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय से अपनी पढ़ाई पूरी की है। वह पढ़ाई में काफी ठीक ठाक थे। उन्होंने विज्ञान और कानून में स्नातक की डिग्री प्राप्त की है तथा अर्थशास्त्र विषय लेकर उन्होंने स्नातकोत्तर की डिग्री प्राप्त की है।

अजीत पवार का जीवन परिचय

अशोक गहलोत का परिवार (Ashok Gehlot Family)

पिता का नाम (Father Name)स्वर्गीय श्री बाबू लक्ष्मण सिंह गहलोत
माता का नाम (Mother Name)सेवा देवी
भाई का नाम (Brother Name)अग्रसेन गहलोत, कंवरसेन गहलोत (2018 में मृत्यु)
बहन का नाम (Sister Name)विमला देवी गहलोत
पत्नी का नाम (Wife Name)सुनीता गहलोत
बेटे का नाम (Son Name)वैभव गहलोत
बेटी का नाम (Doughter Name)सोनिया गहलोत
बहू का नाम (Doughtet–in–law’s)हिमांशी
पोती का नाम (Granddoughter Name)काश्र्विनी गहलोत

अशोक गहलोत की शादी (Ashok Gehlot Marriage, Wife)

अशोक गहलोत का विवाह 27 नवंबर 1970 को सुनीता गहलोत जी के साथ हुआ इनकी दो संताने एक पुत्र और एक पुत्री है उनके पुत्र का नाम वैभव गहलोत और पुत्री का नाम सोनिया गहलोत है। उनकी पत्नी एक एनजीओ (NGO) चलाती है और बेटी सोनिया गहलोत की शादी मुंबई में रहने वाले एक व्यवसाय कराने में हुई है।

अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत व्यवसायिक रूप से एक वकील है। वैसे तो वह पिता की पार्टी कांग्रेस की सक्रिय राजनीति से भी जुड़े हुए हैं उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर जोधपुर से लोकसभा का चुनाव भी लड़ा पर उनमें उनकी हार हुई।

इसे भी पढ़ें - नीम करोली बाबा का जीवन परिचय

अशोक गहलोत का करियर

अशोक गहलोत जी अपने छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय हो गए थे और गांधी एवं उनके कांग्रेस विचारधारा का प्रचार एवं प्रसार में लग गए थे, छात्र जीवन में वह कांग्रेस की छात्र युवा इकाई के से भी जुड़े हुए थे।

वर्ष 1970 में राजस्थान से उन्होंने अपना पहला चुनाव सरदारपुरा निर्वाचन क्षेत्र से लड़ा था हालांकि इस चुनाव में उनकी हार हुई थी। आश्चर्य की बात यह है कि अशोक गहलोत जो आज करोड़ों के मालिक हैं उन्हें उस समय इस चुनाव को लड़ने के लिए उन्हें अपनी इकलौती मोटरसाइकिल तक बेचनी पड़ गई थी, फिर भी उन्होंने इसमें पराजय का सामना करना पड़ा।

इसके बाद भी उन्होंने साहस नहीं छोड़ा और लगातार कांग्रेस की विचारधाराओं का प्रचार प्रसार करते रहे इससे खुश होकर कांग्रेस पार्टी की ओर से उन्हें साल 1980 में जोधपुर लोकसभा से चुनाव लड़ने का मौका मिला इस चुनाव में विरोधी कमजोर थे और वे आपस में बटें हुए थे इसका सीधा लाभ उन्हें मिला और उनकी पार्टी इस चुनाव को बड़े अच्छे अंतर से जीत गई।

इसके बाद अशोक गहलोत दिल्ली की सक्रिय राजनीति से सीधे जुड़ गए और इनका कद भी पड़ गया कांग्रेस पार्टी में इनकी गिनती राजस्थान में आने वाले महत्वपूर्ण नेताओं में भी होने लगी थी परिणाम स्वरूप यह हुआ कि वर्ष 1984 में इन्हें पर्यटन विभाग और नागरिक उड्डयन विभाग में केंद्रीय राज्यमंत्री का पद मिल गया इससे इनका का दौर अधिक पड़ गया इसके बाद समय-समय पर अशोक गहलोत कई अलग-अलग पदों पर आसीन होते रहे।

अशोक गहलोत का जीवन परिचय | Ashok Gehlot Biography In Hindi

इसके बाद अशोक गहलोत लगातार केंद्र की राजनीति में सक्रिय बने रहे लेकिन वर्ष 1991 में कांग्रेस की नरसिम्हा राव सरकार ने इन्हें वापस अपने गृह राज्य राजस्थान की कमान संभालने के लिए भेज दिया जहां वर्ष 1998 में कांग्रेस ने राजस्थान विधानसभा की 200 में से 153 सीटें जीत कर एक बड़ी दर्द जीत हासिल की थी। इस जीत के बाद अशोक गहलोत राजस्थान के 11 मे मुख्यमंत्री नियुक्त हुए।

यह पहला मौका था जब अशोक गहलोत राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्त हुए थे इसके बाद वह वर्ष 2008 में पुनः राजस्थान के मुख्यमंत्री के पद पर आसीन हुए एवं इसके 10 साल बाद साल 2018 में पुनः तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री के पद पर नियुक्त किए गए और वह वर्तमान में राजस्थान के सीएम के पद पर आसीन हैं।

अशोक गहलोत जी के सामाजिक कार्य

  • गरीब और पिछड़े वर्गों की सेवा के लिए तैयार अशोक गहलोत ने वर्ष 1971 में बांग्लादेश युद्ध के दौरान 1 गांव और पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिलों में आयोजित शरणार्थी शिविरों में काम किया है।
  • समाजसेवा में गहरी रूचि रखने वाले तरुण शांति सेना द्वारा सेवाग्राम वर्धा औरंगाबाद इंदौर और कई अन्य स्थानों में आयोजित सेवाओं में सक्रिय रूप से काम किया और स्लम (पिछड़े) क्षेत्रों के विकास के लिए कार्य किया है।
  • नेहरू युवा केंद्र के माध्यम से उन्होंने प्रौढ़ शिक्षा के विस्तार में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है वह कुमार साहित्य परिषद और राजीव गांधी मेमोरियल बुक बैंक से सक्रिय रूप से जुड़े हुए हैं।
  • अशोक गहलोत भारत सेवा संस्थान के संस्थापक एवं अध्यक्ष भी हैं यह संस्थान समाज सेवा के लिए समर्पित है और एंबुलेंस सेवा प्रदान करता है।
  • इसके अलावा संस्थान राजीव गांधी मेमोरियल बुक बैंक के माध्यम से गरीब छात्रों के लिए मुफ्त किताबें प्रदान करता है संस्थान ने जोधपुर के राजीव गांधी सेवा सदन में एक वाचनालय भी स्थापित किया है।
  • वह राजीव गांधी स्टडी सर्कल, नई दिल्ली के अध्यक्ष भी हैं यह संस्था देशभर के विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के छात्रों और शिक्षकों के हितों की देखभाल करती है।

अशोक गहलोत द्वारा विभिन्न ने समय पर संभाले गए पद

पदवर्ष
राजस्थान एनएसयूआई के अध्यक्ष1974
जिला कांग्रेस कमेटी ,जोधपुर के अध्यक्ष1979
लोक लेखा समिति के अध्यक्ष1980
राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव1982
केंद्रीय उपमंत्री, पर्यटन विभाग1982
पर्यटन और नागरिक उड्डयन विभाग के केंद्रीय उपमंत्री1983
खेल विभाग के केंद्रीय उपमंत्री1984
पर्यटन और नागरिक उड्डयन विभाग के केंद्रीय राज्य मंत्री1984
राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष1985, 1994, 1997
मंत्री (गृह विभाग और पीएचईडी)1989
कपड़ा विभाग के केंद्रीय राज्य मंत्री1991
संचार सलाहकार (लोकसभा)1998
पहली बार राजस्थान के मुख्यमंत्री1991
दूसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री2008–2013
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव2017
तीसरी बार राजस्थान के मुख्यमंत्री2018

अशोक गहलोत जी से जुड़े विवाद

  • वर्ष 2017 में इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इन्वेस्टीगेशन जनरलिज्म की एक जांच में “पैराडाइज पेपर” की सूची में राजनेताओं के बीच उनका नाम उजागर हुआ था हालांकि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिलने के कारण मामले से उनका नाम हटा दिया गया था।
  • वर्ष 2011 में अशोक गहलोत एक विवाद में तब फस गए जब राजस्थान सरकार ने ₹11 हजार करोड रुपए की संपत्ति और अनुबंध दिए थे (कथित तौर पर अशोक के परिवार के सदस्यों के साथ वित्तीय संबंध रखने वाली फर्मों के लिए)।

अशोक गहलोत की कुल संपत्ति (Ashok Gehlot Net Worth)

राजनेता अशोक गहलोत की कुल संपत्ति लगभग 10 करोड़ रूपये हैं। उनकी कमाई का प्राथमिक स्‍त्रोत राजनीतिक वेतन, कृषि और भवन भूमि से किराया हैं।

कुल संपत्ति (Net worth 2023)10 करोड़ रूपये
वार्षिक आय (Annual Income)21 लाख रूपये
सैलरी (Monthly Income)1,75,000 रूपये
सप्‍ताहिक (Weekly Income)40,384 रूपये
प्रतिदिन (Daily Income)8,076 रूपये

अशोक गहलोत जी से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • अशोक गहलोत भारतीय राजनेता हैं जिन्हें राजस्थान के 15वें मुख्यमंत्री के तौर पर जाना जाता है।
  • राजस्थान राज्य में तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने वाले वह चौथे नेता हैं।
  • उनका जन्म और पालन-पोषण राजस्थान के जोधपुर के एक जादूगर परिवार में हुआ है।
  • अशोक गहलोत केवल सात्विक भोजन करने में विश्वास रखते हैं और सूर्यास्त के बाद सुबह तक कुछ भी खाने से बचते हैं।
  • राजनीति में आने से पहले गहलोत डॉक्टर बनना चाहते थे इसके लिए उन्होंने मेडिकल कॉलेज में दाखिला भी लिया था जिसे बाद में उन्होंने बीच में ही छोड़ दिया।
  • वर्ष 1971 में उन्होंने पूर्वी बंगाली शरणार्थी संकट के दौरान शरणार्थी शिविरों की सेवा की है।
  • अशोक गहलोत ने राजीव गांधी के साथ मिलकर काम किया है जब राजीव गांधी भारत के प्रधानमंत्री थे।
  • अशोक गहलोत ने वर्ष 1989 में राजस्थान के गृहमंत्री के रूप में भी कार्य किया है।
  • उन्हें नाश्ते में कॉपी और पारले जी बिस्कुट पसंद है।
  • वह अपने बचपन में अपने पिता के साथ जादू का खेल दिखाने के लिए जाया करते थे।
  • राजनीति में बने रहने के लिए उन्होंने अपनी एकलौती मोटरसाइकिल तक को भेज दिया था।

FAQ:

अशोक गहलोत कितनी बार मुख्यमंत्री बने हैं?

3 बार 1991, 2008 और 2018 में।

अशोक गहलोत कौन सी जाति के हैं?

पिछड़ा (माली) ।

अशोक गहलोत का जन्म कब हुआ था?

3 मई 1951 को महामंदिर ,जोधपुर ।

अशोक गहलोत की बेटी कौन है?

सोनिया गहलोत।

अशोक गहलोत की पत्नी का क्या नाम है?

सुनीता गहलोत।

इन्‍हें भी पढ़ें

निष्‍कर्ष

मैं आशा करता हूं की आपको “अशोक गहलोत का जीवन परिचय | Ashok Gehlot Biography In Hindi” पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो कमेंट करके अपनी राय दे, और इसे अपने दोस्तो और सोशल मीडिया में भी शेयर करे।

Leave a Comment

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now