महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की जीवनी, निधन | Queen Elizabeth II biography in Hindi

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की जीवनी, निधन, पति, बच्चे, परिवार, संपत्ति (Queen Elizabeth II biography in Hindi, who was Queen Elizabeth II, death, family, networth, in Hindi)

यूनाइटेड किंगडम की एलिजाबेथ द्वितीय साल 1952 में सिंहासन बैठने से लेकर 2022 में अभी तक यूनाइटेड किंग्डम की महारानी थी।

ब्रिटेन की सबसे लंबे समय तक शासन करने वाली महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 96 वर्ष की आयु में निधन हो गया। वह पिछले 70 वर्षों से रानी और देश की प्रमुख महिला का पद संभाल रही थी। उनकी जीवन यात्रा के बारे में अधिक जानने के लिए पढ़ें और अब कौन कमान संभालेगा।

queen elizabeth II
Queen Elizabeth II

Table of Contents

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का जीवन परिचय

नाम (Full Name)एलिजाबेथ अलेक्जेंड्रा मैरी
जन्म दिन (Date of birth)21 अप्रैल 1926
जन्म स्थान (Place of born)लंदन, इंग्लैंड
मृत्यु की तारीख (Date of death)8 सितंबर 2022
मृत्यु की जगह (Place of death)लंदन, इंग्लैंड
उम्र (Age)96 साल (2022 में)
शिक्षा (Education)घर पर ही पढ़ाई की थी
नागरिकता (Nationality)ब्रिटिश
गृह नगर (Home town)लंदन, इंग्लैंड
धर्म (Religion)चर्च ऑफ इग्लैंड और चर्च ऑफ स्कॉटलैंड
लंबाई (Height)5 फीट
वजन (Weight)55 किलो
आंखों का रंग (Eye Colour)नीला
बालो का रंग (Hair Colour)सफेद
पेशा (Profession)यूनाइटेड किंगडम, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की रानी और राष्ट्रमंडल की प्रमुख
वैवाहिक स्थिति (Metrial status)विधवा
शादी की तारीख (Marriage Date)साल 1947
कुल संपत्ति (Net worth)145 मिलियन डॉलर

कौन है महारानी एलिजाबेथ द्वितीय (Who is Queen Elizabeth ii)

एलिजाबेथ द्वितीय 2 जून 1953 को ब्रिटिश की महारानी बनी थी. इनकी पढ़ाई लिखाई घर पर ही हुई. 6 फरवरी 1952 को महारानी एलिजाबेथ का राज्याभिषेक हुआ। और इसका लाइव टेलीकास्ट भारत में दूरदर्शन पर दिखाया गया।

महारानी की शादी राजकुमार फिलिप से हुई उनके चार बच्चे हैं उन्होंने ब्रिटेन पर 70 सालों तक राज किया था।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का जन्म एवं प्रारंभिक जीवन

एलिजाबेथ अलेक्जेंड्रा मैरी आधिकारिक तौर पर एलिजाबेथ द्वितीय का शीर्षक 21 अप्रैल, 1926 को लंदन, इंग्लैंड में पैदा हुई थी।

उन्होंने 6 फरवरी 1952 को यूनाइटेड किंगडम ऑफ ग्रेट ब्रिटेन और उत्तरी आयरलैंड की रानी के रूप में कमान संभाली। वह ब्रिटिश इतिहास में सबसे लंबे समय तक राज्य करने वाली सम्राट है।

महारानी एलिजाबेथ प्रिंस अल्बर्ट, यॉर्क के ड्यूक और लेडी एलिजाबेथ बोबेस – लियोन की बेटी थी। वह किंग जॉर्ज पंचम के छोटे बेटे की बेटी थी, और इस प्रकार युवा एलिजाबेथ के सिंहासन पर बैठने की बहुत कम संभावना थी।

यह तब था जब उनके चाचा एडवर्ल्ड viii ने 1936 में एलिजाबेथ के पिता के पक्ष में अपना सिंहासन त्याग दिया था। यही वह समय था जब उनके पिता किंग जॉर्ज vi बने, जिससे वे उत्तराधिकारी बन गए।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का परिवार (Queen Elizabeth II Family)

पिता का नाम (Father’s Name)ड्यूक ऑफ आर्क अल्बर्ट
माता का नाम (Mother’s Name)एलिजाबेथ
पति का नाम (Husband Name)राजकुमार फिलिप
बहन का नाम (Sister Name)राजकुमारी मार्गरेट
बच्चे (Children’s Name)4
बेटा (Son’s Name)प्रिंस एडवर्ड, प्रिंस चार्ल्स और प्रिंस एंड्रयू
बेटी (Daughter Name)प्रिंसेस ऐनी

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की शादी (Queen Elizabeth II Marriage)

महारानी एलिजाबेथ ने 20 नवंबर 1947 को प्रिंस फिलिप यानी ड्यूक ऑफ एडिनबरा से शादी की. महारानी के पति प्रिंस फिलिप उनके दूर के रिलेशन में थे. महारानी को सिर्फ 13 साल की उम्र में प्रिंस फिलिप से मोहब्बत हो गई थी।

इनकी शादी के समय इन शाही जोड़े को देखने के लिए बर्मिंघम पैलेस के बाहर कई हजारों लोगों का हुजूम उमड़ा था। महारानी एलिजाबेथ और प्रिंस फिलिप की शादी के समय भारत अपनी आजादी का जश्न मनाने में व्यस्त था।

इनके चार बच्चे हैं पहले बेटे के रूप में प्रिंस चार्ल्स हुए जो साल 1948 में पैदा हुए। उनके बाद बंकिंघम पैलेस में साल 1950 में राजकुमारी एनी का जन्म हुआ।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का सफर है

महारानी एलिजाबेथ और उनके पति प्रिंस फिलिप शादी के 5 साल बाद साल 1952 में केन्या के दौरे पर गए थे. उसी दौरान उनके पिता जार्ज vi बीमार चल रहे थे और 6 फरवरी 1952 को उनका निधन हो गया। उस समय महारानी एलिजाबेथ सिर्फ 25 साल की थी. उनके पिता के ऐसे चले जाने से उस दिन सब कुछ बदल गया और उन्हें महारानी घोषित कर दिया।

साल 1953 और 2 जून के दिन वेस्टमिंस्टर एबी में महारानी एलिजाबेथ का राज्याभिषेक हुआ। तब से लेकर अब तक के महारानी ब्रिटेन के 14 प्राइम मिनिस्टर के साथ कार्य कर चुकी थी।

द्वितीय विश्व युद्ध के बाद ब्रिटेन जीत गया था लेकिन खुद को कमजोर महसूस कर रहा था। जिसका नतीजा यह हुआ कि जिन कंट्री में ब्रिटेन ने कोरोनेशन बनाए थे वह धीरे-धीरे हटना शुरू हो गए थे।

द्वितीय विश्व युद्ध के कई देश ब्रिटेन के हाथों से फिसल से जा रहे थे जिस वजह से ब्रिटेन की आर्थिक और राजनीतिक स्थिति कमजोर पड़ गई. जहां एक तरफ तीन सदियों से पावर में रहा ब्रिटेन लेकिन यहां पर टूट गया था।

महारानी एलिजाबेथ ने कॉमनवेल्थ के जरिए कई देशों को ब्रिटेन से जोड़ने का रास्ता बनाया लेकिन फिर भी ब्रिटेन का पतन नहीं रुका।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का सिंहासन पर बैठना

1951 में, किंग जॉर्ज vi के स्वास्थ्य में गंभीर गिरावट देखी गई राजकुमारी एलिजाबेथ उनकी बड़ी बेटी होने के नाते, ट्यूपिंग द कलर सहित विभिन्न राज्य अवसरों पर किंग जॉर्ज VI का प्रतिनिधित्व करती थी।

दुर्भाग्य से 6 फरवरी 1952 को राजा का निधन हो गया उनके पिता के इस दुखद निधन के कारण राजकुमारी एलिजाबेथ रानी बन गई।

उसके शासन काल के शुरुआती कुछ महीने उसके पिता किंग जॉर्ज VI के लिए बड़े शौक में बीते थे। हालांकि क्लेरेंस हाउस से बंकिंघम पैलेस जाने के बाद महिला ने बहादुरी से संप्रभु की सभी नीति जिम्मेदारियों और कर्तव्य क निभाया।

उसके बाद उन्होंने 4 नवंबर 1952 को अपने शासनकाल में संसद का पहला राज्य उद्घाटन किया। महारानी का राज्य अभिषेक 2 जून 1953 को वेस्टमिंस्टर एब्बे में हुआ था।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के लिए चुनौतियां

महारानी एलिजाबेथ राजशाही की आधुनिक भूमिका में दृढ़ विश्वास रखती थी उनका विश्वास कुछ इशारों में प्रकट होता है जैसे कि वर्ष 1970 में शाही परिवार के घरेलू जीवन को टेलीविजन पर प्रसारित करना है।

हालांकि आधुनिक राज्य शाही का रास्ता रानी के लिए आसान नहीं था। 1990 के दशक में शाही परिवार को मुसीबतों की आंधी का सामना करना पड़ा था।

वर्ष 1992 को स्वयं रानी द्वारा शाही परिवार की वार्षिक भयावहता के रूप में माना जाता है इस साल प्रिंस एंड्रयू अपनी पत्नी सारा डचेस ऑफ यार्क के साथ अलग हो गए प्रिंस चार्ल्स और उनकी पत्नी डायना, वेल्स की राजकुमारी ने भी ऐसा ही किया।

इसके अतरिक्त एनी का तलाक हो गया संकट के साथ, देश को मंदी का सामना करना पड़ा, जिससे शाही परिवार की जीवन शैली के प्रति भारी आक्रोश पैदा हो गया। वर्ष 1992 में महारानी एलिजाबेथ अपनी निजी आय पर करों का भुगतान करने के लिए सहमत हुई।

चार्ल्स और डायना का तलाक भी परिवार के लिए एक चिंता का विषय था क्योंकि इस घटना ने सभी प्रकार के समर्थन को समाप्त कर दिया।

इसके बाद 1997 में डायना की मृत्यु के बाद आक्रोश गहरा गया, और जब महारानी एलिजाबेथ ने शुरू में बांकीघम के ऊपर आधे कर्मचारियों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने की अनुमति नहीं दी।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का निधन (Queen Elizabeth II Death)

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 8 सितंबर 2022 को 96 साल की उम्र में निधन हो गया. महारानी लंबे समय से बीमार थी और स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कासल में उन्होंने अंतिम सांस ली।

गुरुवार को उनकी हालत खराब होती जा रही थी जिसके बाद डॉक्टर की निगरानी में इलाज हुआ लेकिन उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर दुख जाहिर किया और कहा – “महारानी एलिजाबेथ को हमारे समय की एक दिग्गज शासक के रूप में याद किया जाएगा। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं हैं और उनके परिवार और ब्रिटेन के लोगों के साथ हैं।”

अब कौन राज्य करेगा सिंहासन?

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के सबसे बड़े बेटे प्रिंस ऑफ वेल्स, प्रिंस चार्ल्स ने अपनी मां के दुखद निधन के तुरंत बाद शासन संभाला।

गोल्डन जुबली ईयर

वर्ष 2002 महारानी का सिंहासन पर 50 वर्ष था। “गोल्डन जुबली ईयर” मनाने के लिए राष्ट्रमंडल में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस में लंदन में कई दिनों तक चलने वाले उत्सव भी शामिल थे। हालांकि, एलिजाबेथ की मां और बहन के निधन के साथ समारोह की चिंगारी खत्म हो गई।

वर्ष 2011 में शाही परिवार को चार्ल्स और डायना के बड़े बेटे बेल्स के प्रिंस विलियम की कैथरीन मिडलेटन से शादी के साथ जश्न मनाने का एक और कारण दिया।

वर्ष 2012 महारानी एलिजाबेथ के लिए “डायमंड जुबली” वर्ष था। वर्ष रानी के लिए सिंहासन के 60 लंबे वर्षों को चिन्हित करता है।

चल रहे वर्ष अर्थात 2022 को महारानी एलिजाबेथ की प्लेटिनम ईयर के रूप में मनाया जाता है, जो महारानी के 7 दशकों को सिंहासन पर बैठाती है।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के बारे में रोचक तथ्य (Queen Elizabeth II Interesting facts)

  • महारानी एलिजाबेथ के पास कोई पासपोर्ट नहीं था क्यों की यह खुद लोगों के पासपोर्ट जारी करती है।
  • साल 1957 में पहली बार टीवी के जरिए महारानी एलिजाबेथ ने लोगों को संबोधित किया।
  • अक्टूबर 1965 में पॉपुलर म्यूजिक बैंड “बीटल्स” महारानी एलिजाबेथ से मिलने बांकीघम पैलेस पहुंचे।
  • महारानी एलिजाबेथ पहली बार साल 1986 में चीन के दौरे पर गई थी।
  • महारानी एलिजाबेथ को पालतू कुत्तों का शौक था उनके पास कौर्गी ब्रीड के डॉग्स थे।
  • महारानी एलिजाबेथ के पति प्रिंस फिलिप उन्हें प्यार से लिलिबेट बुलाते थे।
  • साल 2012 में महारानी एलिजाबेथ एक्टर डेनियल क्रेग के साथ लंदन ओलंपिक की सेरिमनी में साथ पहुंचकर लोगों को सरप्राइज़ दिया था।
  • साल 1970 में महारानी एलिजाबेथ की पहली शाही यात्रा ऑस्ट्रेलिया की थी।
  • 2 जून 1953 को वेस्टमिंस्टर एबी में महारानी एलिजाबेथ की ताजपोशी हुई इस प्रोग्राम को लाइव दो करोड़ से ज्यादा लोगों ने देखा था।
  • जून 2022 में महारानी के 70 साल के शासन की प्लैटिनम जुबली मनाई गई. प्लेटिनम जुबली कार्यक्रम शाही हिस्ट्री में पहला कार्यक्रम था।

FAQ

रानी एलिजाबेथ कहां की रानी थी?

एलिजाबेथ ने, जब केवल 25 वर्ष के थी, ना केवल अपने पिता को खोने के दुख का सामना किया बल्कि इसे चुनौती पूर्ण संभावना का भी सामना किया। कि वह अब यूनाइटेड किंगडम की रानी और राष्ट्रमंडल की प्रमुख थी।

लंदन की रानी कौन थी?

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की ताजपोशी को जून 2022 में 69 साल हो गए।

एलिजाबेथ के कितने बच्चे थे?

4

महारानी एलिजाबेथ कितने देशों में शासन करती हैं?

महारानी ब्रिटेन के अलावा 14 राष्ट्रमंडल क्षेत्रों की संप्रभु है। वह स्वयं राष्ट्रमंडल की प्रमुख भी है। जो 54 स्वतंत्र देशों का एक स्वैच्छिक संघ है।

इन्हें भी पढ़ें

मैं आशा करता हूं की आपको ” (महारानी एलिजाबेथ द्वितीय की जीवनी, निधन | Queen Elizabeth II biography in Hindi)” पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो कमेंट करके अपनी राय दे, और इसे अपने दोस्तो और सोशल मीडिया में भी शेयर करे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment