दीपक पुनिया का जीवन परिचय l Deepak Punia Biography in Hindi

दीपक पुनिया रेसलर का जीवन परिचय टोक्यो ओलंपिक, अगला मैच, रैंकिंग, मेडल, भाई, परिवार, कद, जाति, धर्म (Deepak Punia biography in hindi) (Tokyo Olympic, Schedule,Ranking, Medals, Next Match, Height, Weight, Age, Religion, Caste)

भारत में ऐसे बहुत से रतन है जो अपने भारत का नाम रोशन करने के लिए कुछ भी करने को तैयार रहते हैं ऐसा ही एक भारत का उभरता हुआ रतन जो हरियाणा के बहादुरगढ़ में स्थित है सारा गांव का निवासी है उसका नाम है दीपक पुनिया भारत का नाम टोक्यो ओलंपिक 2020 में रोशन करने वाला दीपक पुनिया कौन हैं और उसके जीवन की क्या उपलब्धियां हैं उनके बारे में हम यहां पर विस्तार पूर्वक जानेंगे।

दीपक पुनिया का जीवन परिचय l Deepak Punia Biography in Hindi

दीपक पुनिया का जीवन परिचय (Deepak Punia Biography)

पूरा नाम (Full Name)दीपक पुनिया
निक नेम (Nick Name)दीपक
पेशा (Profession)फ्री स्टाइल रेसलर
जन्मतिथि (date of birth)19 अप्रैल 1999
उम्र (Age)23 साल
जन्मस्थान (place of birth)झज्जर हरियाणा
शौक (hobbies)बॉडी बिल्डिंग और ट्रेवलिंग
कोच का नाम (Coach)सतपाल
राष्ट्रीयता (Nationality)भारतीय
बालों का रंग (hair colour)काला
आंखो का रंग (eye Colour)काला
हाइट (height)6 फुट 1 इंच
वजन (weight)86 किलोग्राम
धर्म (Religion)हिंदू
जाती (Caste)जाट

दीपक पुनिया का जन्म एवं प्रारंभिक जीवन

एक छोटी सी डेयरी चलाने वाले पिता का बेटा टोक्यो ओलंपिक में अपना नाम रोशन कर रहा है जिसका नाम है दीपक पुनिया दो बेटियों के बाद हो नाइस अप्रैल 1999 हरियाणा के झज्जर में दीपक मियां का जन्म हुआ जो बचपन से ही खुशी की तरफ झुकाव रखता था जिसके चलते 5 वर्ष की उम्र से ही उन्होंने किसी को अपना लक्ष्य आने वाले भविष्य की तैयारी शुरू कर दी साल की उम्र तक उन्होंने काफी के लिए थे और आसपास के लोगों ने उनकी कुश्ती के प्रतिभा के लिए जानने भी लगे थे।

दीपक पुनिया की शिक्षा एवं ट्रेनिंग (Deepak Punia Education and Training)

गांव की एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे दीपक पुनिया कुश्ती से बेहद प्यार करते थे वहीं के एक छोटे से स्कूल में उनकी प्रारंभिक शिक्षा पूरी हुए अपने स्कूल के दिनों में भी वे दंगल कुश्ती जैसे प्रतियोगिता में भाग लिया करते थे। उनका सपना था इंटरनेशनल लेवल पर खेलकर अपने देश के लिए मेडल लाना और भारत का नाम दूसरे देशों में उज्जवल करना। इसी के चलते उन्होंने अपनी बेहतर ट्रेनिंग के लिए छात्रसाल स्टेडियम के फेमस रेशनल गुरु सतपाल जी को वांगी की ट्रेनिंग के लिए चुना। दीपक न्यू वर्ल्ड क्रिकेट चैंपियनशिप इमेज अपनी प्रतिभा दिखाई परंतु उसमें जीत नहीं मिली लेकिन फिर भी उन्होंने हार नहीं मानी।

दीपक पुनिया का परिवार (Deepak Punia Family)

पिता (Father’s Name)सुभाष पूनिया
माता (Mothers Name)कृष्णा पूनिया
चचेरे भाई (Brother)सुनील पूनिया
बहन (Sister’s)नीरू पूनिया (शूटर)
गर्लफ्रेंड (girlfriend)ज्ञात नहीं
पत्नी (Wife)ज्ञात नहीं

कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में दीपक पुनिया का स्वर्ण पदक (Deepak Punia in Commonwealth games 2022)

  • कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में बरगी बरनिंघम में आयोजित किया गया है जिसके दौरान भारत की ओर से कुश्ती लड़की व दीपक पुनिया ने फाइनल मुकाबले में अपनी जगह बनाई है और पाकिस्तान के प्रतिद्वंदी को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम किया।
  • दीपक ने फाइनल राउंड के मुकाबले में पाकिस्तानी के प्रतिद्वंदी मोहम्मद इनाम को 3-0 से हराकर और यह खिताब अपने नाम किया
  • कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में दीपक का पहला मुकाबला न्यूजीलैंड के मैथ्यू ओक्सेनहेम से हुआ था जिसे उन्होंने 2-0 की बढ़त के साथ 3 मिनट 22 सेकंड में हराया था जबकि अपने दूसरे मुकाबले में दीपक ने महज 1 मिनट 33 सेकंड में शेखू कासेगबामा को 10-0 से हराया था और इसी के साथ यह सेमीफाइनल में पहुंचे।
  • सेमी फाइनल राउंड में इनका मुकाबला कनाडा के एलेग्जेंडर मूर से हुआ। सेमीफाइनल का यह मुकाबला काफी टक्कर का रहा और 6 मिनट तक चलने के बाद दीपक पुनिया ने एलेग्जेंडर को 3-0 से हरा दिया और फाइनल राउंड में पहुंच गए।
  • फाइनल राउंड में दीपक का मुकाबला पाकिस्तान के कुश्ती बाज मोहम्मदी नाम से हुआ क्योंकि यह मुकाबला भारत और पाकिस्तान के बीच में था इसलिए काफी रोमांचक रहा लेकिन पाकिस्तानी पहलवान की दीपक के सामने एक नक्सली और दीपक ने फाइनल मुकाबले में 3-0 से मात दे दी और राष्ट्रमंडल खेल में अपना पदक जीता। आपको बता दें कि दीपक ने राष्ट्रमंडल खेल में अपना खाता स्वर्ण पदक के साथ खोला है।
  • बर्मिंघम में कुश्ती के मुकाबले में भारत ने कुल 6 पदक जीते हैं जिनमें से तीन स्वर्ण पदक हैं पहला स्वर्ण पदक बजरंग पुनिया को दूसरा स्वर्ण पदक साक्षी मलिक तथा तीसरा स्वर्ण पदक दीपक पुनिया को मिला है जबकि इसके अलावा तीन अन्य प्रतिभागियों को 1 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज मेडल मिले हैं। इसी के साथ कुल मिलाकर भारत में 26 पदक जीते हैं जिनमें से 9 स्वर्ण पदक 8 रजत पदक तथा 9 कांस्य पदक शामिल हैं।

दीपक पुनिया अवॉर्ड्स (Deepak Punia Awords)

  • वर्ल्ड जूनियर चैंपियनशिप के दौरान गोल्ड और सिल्वर मेडल दीपक पुनिया ने अपने नाम किया था
  • वर्ष 2021 में दीपक पुनिया को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा अर्जुन अवार्ड दिया गया था।
  • 2019 में विश्व कुश्ती चैंपियनशिप के दौरान रजत पदक से नवाजे गए।
  • एशियाई खेलों के दौरान अपने प्रदर्शन के चलते दो कांस्य पदक उन्होंने अपने नाम किए ।
  • वर्ल्ड कैडेट चैंपियनशिप के दौरान ही बेहतरीन प्रदर्शन दिखाने के बाद उन्हें वर्ड पदक से नवाजा गया।

दीपक पुनिया का टोक्यो ओलंपिक 2020 में प्रदर्शन

भारत की तरफ से टोक्यो ओलंपिक 2020 में भारत को रिप्रेजेंट करते हुए दीपक पुनिया ने कोलंबिया के टाइग्रेरोस को हराकर सेमीफाइनल की ओर कदम रखा। उन्होंने अपने फ्रिस्टॉल प्रदर्शन से 85 किलो वर्ग के क्वार्टर में चीन के खिलाड़ी को हरा दिया। विश्व चैंपियन में रजत पदक हासिल करने वाले दीपक पुनिया ने बड़े ही कुशलता से 6-3 से हराकर सेमीफाइनल का खिताब अपने नाम कर लिया।

पूरे समय लड़ने के बाद अंतिम समय में उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत से यह जीत हासिल की है किंतु सेमीफाइनल मैच में पहुंचने के बाद उन्हें जीत हासिल नहीं हुई सेमीफाइनल मैच में यूएस के डेबिट टेलर ने दीपक पुनिया को हरा दिया है। इससे इस खेल से बाहर हो गए।

दीपक पुनिया का करियर (Deepak Punia Career)

  • दीपक बचपन से ही कुश्ती की तरफ झुकाव रखता था जिसके चलते 5 वर्ष की उम्र से ही उन्होंने कुश्ती को अपना लक्ष्य साधते हुए आने वाले भविष्य की तैयारी शुरू कर दी 7 साल की उम्र तक तो उन्होंने कुश्ती के काफी सारे दाव सीख लिए थे और आसपास के लोगों ने उनकी कुश्ती की प्रतिभा के लिए जानने भी लगे थे।
  • छत्रसाल स्टेडियम में दीपक को सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त जैसे बड़े पहलवानों का gaidance मिला। सुशील कुमार को दीपक गुरु जी कहकर बुलाते थे दो बार की ओलंपिक मेडलिस्ट सुशील ने हीं दीपक को सेना में सिपाही की नौकरी करने से रोका और उन्हें कुश्ती पर ही ध्यान देने की सलाह दी।
  • वर्ष 2015 में छत्रसाल स्टेडियम के जाने-माने पहलवान के नेतृत्व में ट्रेनिंग शुरू करने के बाद उन्होंने सबसे पहले वर्ल्ड कैडेट चैंपियनशिप का हिस्सा बनकर अपना हुनर दिखाया। हालांकि सफलता नहीं मिली. लेकिन फिर भी हार नहीं मानी उसी साल उन्होंने सब जूनियर

दीपक पुनिया नेटवर्क (Deepak Punia networth)

दीपक की औसत अनुमानित कुल संपत्ति $5 के करीब है और उन्हें इनाम के लिए भी अच्छी राशि मिली है।

FAQs:

दीपक पुनिया का जन्म कब हुआ?

19 अप्रैल 1999

दीपक पुनिया की उम्र कितनी है?

22 साल

दीपक पुनिया कौन है?

दीपक पुनिया एक भारतीय रेसलर है जिन्होंने इस बार बर्मिंघम में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम 2022 में भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता है।

दीपक पुनिया की जाति क्या है?

जाट

दीपक पुनिया के कोच कौन है?

दीपक पुनिया के भारतीय कोच छत्रसाल स्टेडियम में प्रशिक्षण देने वाले पहलवान गुरु सतपाल जी हैं जबकि इनके इंटरनेशनल कोच मुराद गेदराय जी हैं।

इन्‍हें भी पढ़ें:-

निष्कर्ष

मैं आशा करता हूं की आपको “ दीपक पुनिया का जीवन परिचय l Deepak Punia Biography in Hindiपसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो कमेंट करके अपनी राय दे, और इसे अपने दोस्तो और सोशल मीडिया में भी शेयर करे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment