गुरूराजा पुजारी का जीवन परिचय | Gururaja Poojary Biography In Hindi

गुरूराजा पुजारी का जीवन परिचय, वेटलिफ्टर, उम्र, हाइट, परिवार, मेडल, नेटवर्थ, करियर, पूरा नाम, हाइट, कोच [Gururaja Poojary biography in hindi] (Weightlifter, Birth, Age, Family, Medal, Net Worth, Career, Full Name, Height, Education, Instagram, Twitter, Religion, Caste, Competition, Wife, Girlfriend, Coach)

गुरूराजा पुजारी एक भारतीय वेटलिफ्टर हैं. ये पी. गुरूराजा के नाम से भी जाने जाते हैं। इन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया के गोल्‍ड कोस्‍ट में हो रहे 2018 राष्‍ट्रमण्‍डल खेलों में पुरूषों के 56 किग्रा भारवर्ग में स्‍वर्ण पदक जीता। उन्‍होंने कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 2022 (बर्मिंघम) में शानदार प्रदर्शन करते हुए 61 किलोग्राम भार वर्ग में भारत को कांस्‍य पदक जीताने में कामयाबी हासिल की। कॉमनवेल्‍थ गेम 2022 में यह भारत का दूसरा मेडल हैं।

आपको बता दें कि गुरूराजा ने पुरूष वेटलिफ्टिंग के 61 किलोग्राम भार वर्ग स्‍नैच में 118 का स्‍कोर किया और वहीं उन्‍होंने क्‍लीन एंड जर्क में 151 किलोग्राम का स्‍कोर किया।

उन्‍होंने कुल 269 किलोग्राम का स्‍कोर करते हुए यह कामयाबी हासिल की। इससे पहले संकेत सरगर ने भारत को कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 2022 का पहला गोल्‍ड मेडल जीता।

गुरूराजा पुजारी का जीवन परिचय | Gururaja Poojary Biography In Hindi

गुरूराजा पुजारी का जीवन परिचय

नाम (Name)गुरूराजा पुजारी
गृहनगर (Home town)कुंदापुर, कर्नाटक (भारत)
जन्‍म (Birth)15 अगस्‍त 1992
उम्र (Age)29 वर्ष (2022 मे)
जन्‍म स्‍थान (Birth Place)कुंदापुर, कर्नाटक (भारत)
राष्‍ट्रीयता (Nationality)भारतीय
धर्म (Religion)हिंदू
कॉलेज (College)कर्नाटक के उजीरे मे स्थित एसडीएम कॉलेज
शिक्षा (Education)ग्रेजुएशन
पेशा (Profession)भारतीय वेटलिफ्टर
वर्ग (Event)61 किलोग्राम भार वर्ग
लम्‍बाई (height)5 फीट, 1 इंच
वजन (Weight)61 किलोग्राम
बालों का रंग (Hair Colour)काला
आंखो का रंग (Eye Colour)काला
 मैडल (Medal)कांस्‍य पदक (राष्‍ट्रमंडल खेल बर्मिंघम 2022)
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
कोच (Coach)राजेंद्र प्रसाद

गुरूराजा पुजारी का जन्‍म एवं परिवार (Gururaja Poojary Birth & Family)

गुरूराजा पुजारी का जन्‍म 15 अगस्‍त 1992 को कर्नाटक के उडीपी जिले के कुंडापुरा गांव में हुआ था। गुरूराजा पुजारी बेहद ही गरीब परिवार से हैं। गुरूराजा पुजारी के पिता का नाम महाबाला पुजारी है। जो कि एक ट्रक ड़ाइवर हैं।

इनके परिवार में कुल आठ सदस्‍य है. गुरूराजा के पांच भाई है. जिसमें सबसे छोटे गुरूराजा हैं। इनका जीवन भी संघर्षों से भरा रहा। लेकिन खेल के प्रति लगन के कारण गुरूराजा ने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

गुरूराजा पुजारी कौन हैं? (Who is Gururaja Poojary)

15 अगस्‍त 1992 को जन्‍में गुरूराजा पुजारी  का जन्‍म उडीपी जिले के कुंडपुरा गांव में हुआ. वह भारतीय वेट लिफ्टिंग के खिलाड़ी हैं.

गुरूराजा 61 किलोग्राम वर्ग में वेटलिफ्टिंग करते हैं. इन्‍होंने SDM College, Ujire से अपनी शिक्षा पूरी की. अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद इन्‍होंने वेट लिफ्टिंग मे अपना करियर बनाने को चुना. इनका वजन 56 किलो हैं और ये 5 फिट 1 इंच के खिलाड़ी हैं।

गुरूराजा पुजारी की शिक्षा (Gururaja Poojary Education)

गुरूराजा पुजारी ने (P. Gururaja) अपनी प्रारंभिक पढ़ाई कर्नाटक से ही की है. अपनी प्रारंभिक पढ़ाई के बाद कर्नाटक के उजीरे में स्थित एसडीएम कॉलेज से गुरूराजा ने अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई की हैं.

गुरूराजा पुजारी का परिवार (Gururaja Poojary Family)

पिता (Father’s Name)महाबाला पुजारी
माता (Mother’s Name)ज्ञात नहीं
भाई (Brother’s Name)राजेश, 3 अन्‍य
बहन (Sister’s Name)ज्ञात नहीं
वाइफ/गर्लफ्रेंड (wife/Girlfriend)अविवाहित

गोल्‍ड जीतने वाले गुरूराजा के पिता ट्रक ड्रावर थे

गुरूराजा के फर्श से अर्श तक पहुंचने का सफर बेहद कठिन रहा. आपको बता दें ये खिलाड़ी एक ट्रक ड्राइवर का बेटा है. गुरूराजा के चार और भाई हैं और इतने बड़े परिवार का गुजर-बसर करना कभी आसान नहीं था.

गुरूराजा के पिता उनको वो डाइट नहीं दिला पाते थे जो एक वेटलिफ्टर को चाहिए। अच्‍छा वेट उठाने के लिए आपको उसी तरह का खाना भी चाहिए होता हैं लेकिन इस गरीब परिवार के लड़के ने हार नहीं मानी.

गुरूराजा पुजारी के कोच और ट्रेनिंग (Gururaja Poojary Coach)

भारतीय वेटलिफ्टर गुरूराजा पुजारी शुरूआत में पहलवान सुशील कुमार से बहुत प्रभावित थे. उनसे प्रेरणा लेकर गुरूराजा ने रेसलिंग से अपने कॅरियर की शुरूआत की थी लेकिन बाद में कोच (Gururaja Poojary Coach) राजेंद्र प्रसाद ने उन्‍हें वेटलिफ्टिंग करने की सलाह दी जिसके बाद गुरूराजा पुजारी के रूप में भारत को एक बेहतरीन भारोत्‍तोलक मिला.

गुरूराजा पुजारी रिकार्डस (Gururaja Poojary Records)

  • साल 2016 में गुरूराजा पुजारी ने अपने करियर के सबसे पहले कॉमनवेल्‍थ चैंपियनशिप में ही गोल्‍ड मेडल जीतने का कारनामा कर दिखाया। यह चैपियनशिप तब 59 किलोग्राम भार वर्ग का था।
  • साल 2017 में हुए गोल्‍ड कोस्‍ट कॉमनवेल्‍थ चैंपियनशिप में 56 किलोग्राम भार वर्ग में गुरूराजा की किस्‍मत बेह खराब रही और चोट से उबरने के बादद प्रैक्टिस की कमी के कारण इन्‍हें ब्रोंज मैडल से ही संतुष्‍ट करना पड़ा।
  • साल 2018 में ये कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स के लिए वेटलिफ्टिंग 56 किलोग्राम भार वर्ग के लिए चुने गए और इसमें भी गुरूराजा का प्रदर्शन काफी अच्‍छा था लेकिन इसमें भी इनको सिल्‍वर मेडल से ही संतुष्‍ट होना पड़ा।
  • साल 2021 के कॉमनवेल्‍थ चैंपियनशिप में 61 किलोग्राम भार वर्ग में गुरूराजा पुजारी ने सिल्‍वर मेडल जीता था1 इस कॉमनवेल्‍थ चैंपियनशिप में गोल्‍ड मैडल अपने नाम करने से यह महत 8 किलोग्राम ही दूर रह गए थे।

गुरूराजा पुजारी उपलब्धियॉं (Gururaja Poojary Achievements)

  • 2016 में गुरूराजा पुजारी ने साउथ एशियन गेम्‍स में 56 किलोग्राम भार वर्ग में गोल्‍ड मेडल जीता।
  • 2017 में हुए गोल्‍डकोस्‍ट कॉमनवेल्‍थ चैंपियनशिप में 56 किलोग्राम भार वर्ग में कांस्‍य पदक जीता।
  • 2018 में हुए कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में गुरूराजा ने भारत के लिए सिल्‍वर मेडल जीता।
  • 2021 के कॉमनवेल्‍थ चैपियनशिप मे 61 किलोगाम भार वर्ग में गुरूराजा पुजारी ने रजत पदक जीता था1
  • 2022 में फिर से कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में भारत के लिए कांस्‍य पदक जीता हैं।

FAQs:

गुरूराजा पुजारी कौन हैं?

गुरूराजा पुजारी एक भारतीय वेटलिफ्टर हैं। उन्‍होंने कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 2022 बर्मिंघम में 61 किलोग्राम भार वर्ग में कांस्‍य पदक जीतने में कामयाबी हासिल की ।

गुरूराजा पुजारी का जन्‍म कब हुआ था?

15 अगस्‍त 1992 (29 वर्ष 2022 मेंं)

इन्‍हें भी पढ़े:-

निष्‍कर्ष

आशा हैं कि आपको यह आर्टिकल “गुरूराजा पुजारी का जीवन परिचय (Gururaja Poojary biography in Hindi) पसंद आया होगा। अगर जानकारी अच्‍छी लगी हों तो आप इसे अपने सोशल मीडिया पर शेयर करके अन्‍य लोगों को भी इसकी जानकारी दें”

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment