पलक किशोरी (शाम्भवी मिश्रा) का जीवन परिचय |Palak Kishori Biography In Hindi

पलक किशोरी (शाम्भवी मिश्रा) का जीवन परिचय, जीवनी, जन्म, शिक्षा, उम्र, परिवार, बॉयफ्रेंड, शादी, पति, कथाएं, भजन, (Palak Kishori Biography In Hindi, Wiki, Family, Education, Age, Birthday, Latest News, Hobbies, Favorite Things, Personal Life, Lifestyle, Photos, Sister, Brother, Net Worth, Marriage, Husband, Boyfriend)

साथियों अपने कथावाचक और मोटिवेशनल स्पीकर जया किशोरी के बारे में तो जरूर पढ़ा सुना और जाना होगा, परंतु दोस्तों आज हम उनके बारे में बात ना करके उनकी ही जैसी एक किशोरी से आपको रूबरू करवाने जा रहे हैं।

आज हम जिनके बारे में बात करने जा रहे हैं उनके ना केवल नैन नक्श जया किशोरी से मिलते हैं बल्कि उनके बोलने का अंदाज भी बिल्कुल जया किशोरी से मेल खाता है।

दोस्तों में उनका नाम पलक किशोरी (शांभवी मिश्रा) है और मैं 17 वर्ष की उम्र में उनका कथा सुनाने का हुनर और अंदाज किसी प्रोफेशनल कथावाचक से कम नहीं है और यही कारण है कि लोग उनकी तुलना जया किशोरी से कर रहे हैं।

तो दोस्तों आज के अपने लेख पलक किशोरी (शाम्भवी मिश्रा) का जीवन परिचय (Palak Kishori Biography In Hindi) में हम आपको उनके बारे में बहुत सी जानकारियां देंगे तो आइए जानते हैं उनके बारे में-

पलक किशोरी (शाम्भवी मिश्रा) का जीवन परिचय |Palak Kishori Biography In Hindi

पलक किशोरी (शाम्भवी मिश्रा) का जीवन परिचय-

नाम (Name)पलक किशोरी
वास्तविक नाम (Real Name)शाम्भवी मिश्रा
पेशा (Profession)कथावाचक
प्रसिद्ध (Famous For)कथावाचक के रूप में
जन्म (Date Of Birth)24 दिसंबर 2005
जन्म स्थान (Birth Place)सतना मध्य प्रदेश भारत
राशि (Zodiac Sine)ज्ञात नहीं
धर्म (Religion)हिंदू
उम्र (Age)18 वर्ष (2023 के अनुसार)
जाति (Cast)ब्राह्मण
नागरिकता (Nationality)भारतीय
गृह नगर (Home Town)सतना मध्य प्रदेश भारत
लंबाई (Height)(लगभग) 5 फुट 4 इंच
आंखों का रंग (Eyes Colour)काला
बालों का रंग (Hair Colour)काला
शैक्षिक योग्यता (Education)12वीं कक्षा (आगे की शिक्षा जारी है)
शौक (Hobbies)कथा वाचन करना, पढ़ना, संगीत सुनाना
बॉयफ्रेंड (Boyfriend)ज्ञात नहीं
वैवाहिक स्थिति (Marrital Status)अविवाहित

पलक किशोरी (शाम्भवी मिश्रा) कौन है? (Who Is Palak Kishori?)

मध्यप्रदेश के सतना में जन्मी पलक किशोरी जिनका वास्तविक नाम शाम्भवी मिश्रा है वह एक प्रोफेशनल कथावाचक और मोटिवेशनल स्पीकर है और खुद को भगवान कृष्ण का भक्त मानती हैं।

पलक किशोरी का जन्म 24 दिसंबर 2005 को मध्यप्रदेश के सतना मैं एक हिंदू ब्राह्मण परिवार में हुआ है और उनके पिता का नाम संतोष मिश्रा है जो कि एक अधिवक्ता हैं।

उनकी माताजी आराधना मिश्रा एक कुशल ग्रहणी है और उनके परिवार में उनकी माता-पता के अलावा उनके दो बड़ी बहनें हैं अपराजिता मिश्रा और अदिति मिश्रा एवं एक भाई मानस मिश्रा हैं।

उनके दादाजी का नाम रमाकांत शुक्ला है जो कि सतना नगर निगम में पदस्थ अतिक्रमण दस्ता के एक अधिकारी है।

पलक किशोरी की शिक्षा (Palak Kishori Education)

मध्यप्रदेश के सतना में जन्मी पलक किशोरी ने अपने स्कूली शिक्षा को अपने स्थानीय स्कूलों से ही प्राप्त किया है और वर्तमान में वह है 12वीं की शिक्षा को ग्रहण कर रही हैं।

दोस्तों आपको बता दें कि पलक किशोरी के बड़े पिता मनीष मिश्रा एक धार्मिक प्रवृत्ति के इंसान हैं जिसकी वजह से उनके परिवार में आए दिन धार्मिक अनुष्ठान होते रहते थे

जिसकी वजह से पलक के मन में इसका गहरा असर हुआ और उनका रुझान पूजा पाठ एवं धार्मिक किताबों की और जाने लगा।

पलक किशोरी का परिवार (Palak Kishori Family)

दादाजी का नाम (Grandfather’s Name)रमाकांत शुक्ला
पिता का नाम (Father’s Name)संतोष मिश्रा
माता का नाम (Mother’s Name)आराधना मिश्रा
बहन का नाम (Sister’s Name)अपराजिता मिश्रा
अदिति मिश्रा
भाई का नाम (Brother’s Name)मानस मिश्रा
पति का नाम (Husband’s Name)अविवाहित

पलक किशोरी के बॉयफ्रेंड, शादी, पति (Palak Kishori Boyfriend, Husband, Marriage)

दोस्तों आपको बता दें कि कथावाचक पलक किशोरी का अभी तक विवाह नहीं हुआ है और ना ही उनके बॉयफ्रेंड के बारे में कोई जानकारी सामने आई है।

पलक किशोरी ने कथावाचन कब शुरू किया (Palak Kishori Career)

दोस्तों आपको बता दें कि पलक किशोरी के परिवार में बचपन से यही धार्मिक माहौल रहा है और उनके घर परिवार में आए दिन कोई ना कोई धार्मिक अनुष्ठान होते रहते थे जिसका प्रभाव उनके अंदर काफी गहराई तक पड़ा।

वह धीरे धीरे पूजा-पाठ और धार्मिक किताबों और बढ़ने लगी और वह अपने पिता जी एवं अन्य लोगों से जो कहानियां सुनती बाद में वही कहानियां अपनी दादी मां, बड़ी मां आदि लोगों को सुनाने की कोशिश करती और धीरे-धीरे वह इसमें पारंगत हो गई।

इसके साथ ही उन्होंने वर्ष 2021 में नवरात्रि के पर्व पर पहली बार कथा वाचन किया था जिसमें उन्होंने करीब 2 घंटे तक प्रवचन किया था।

आपको बता दें कि पहला किशोरी ने भागवत के लिए कोई प्रोफेशनल पढ़ाई नहीं की है बल्कि जब लॉकडाउन के दौरान लोग अपने घरों में रहते थे उसी समय उन्होंने भी घर में रहकर ही भागवत कथा का अध्ययन किया है और वह धीरे-धीरे कथा वाचन भी करने लगी।

इसके साथ ही दोस्तों आपको बताते हैं कि वह है शिक्षा के क्षेत्र में भी बहुत अच्छी है और हिंदी के साथ-साथ अंग्रेजी भाषा में भी उनकी बराबर पकड़ है एवं जब वह कथा वाचन करती हैं या फिर और उसके बीच में मोटिवेशनल स्पीच देती है तो इसकी झलक होश में आसानी से देखी जा सकती है।

कथा वाचक जया किशोरी को मानती है प्रेरणा स्रोत (Palak Kishori And Jya kishori)

पलक किशोरी मशहूर कथावाचक और मोटिवेशनल स्पीकर जया किशोरी को अपना प्रेरणास्रोत मानती हैं और उन्होंने बताया है कि जिस तरह वह भगवत कथा करती हैं और उनके सुविचार आते हैं उनसे वह बहुत प्रेरित हुई।

वह पिछले कुछ वर्षों से कथा वाचक जया किशोरी के वीडियोस को देखती आ रही है और अब उन्हीं के मार्गदर्शन में कथा वाचन भी कर रही हैं।

यही कारण है दोस्तों की उनके कथा वाचन का तरीका भी बिल्कुल जया किशोरी जी के साथ मिलता है जिसके कारण भक्तगण और सोशल मीडिया पर लोग उन्हें छोटी जया किशोरी कह कर बुलाते हैं।

कथा वाचन कि बिना किसी प्रोफेशनल पढ़ाई के बाद भी अभी तक वह 2 भागवत कथाएं और 3 कृष्ण प्रवचन कर चुकी हैं और जया किशोरी की तरह ही पलक किशोरी की कथा को सुनने के लिए भी हजारों की संख्या में भीड़ आती है और लोग उनके संगीतमय कथा वाचन के दीवाने हैं।

पलक किशोरी की कुल संपत्ति (Palak Kishori Net Worth)

साथियों हमें कथावाचक पलक किशोरी की संपत्ति से जुड़ी कोई जानकारी प्राप्त नहीं हुई है जैसे ही कोई पुख्ता जानकारी प्राप्त होती है हम उसे आपके लिए जल्द से जल्द अपडेट करने का प्रयास करेंगे।

पलक किशोरी से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण रोचक तथ्य-

  • पलक किशोरी का जन्म और पालन-पोषण सतना के एक हिंदू ब्राह्मण परिवार में हुआ है।
  • उनके परिवार में हमेशा से ही धार्मिक माहौल रहा है जिसका उनके दिलों दिमाग पर गहरा प्रभाव हुआ।
  • वह बचपन में जो कहानियां सुना करती थी बाद में उन्हीं कहानियों को अन्य लोगों को सुनाने का प्रयास करती थ।
  • उनके कथा वाचन का तरीका कथा वाचक जया किशोरी से मिलता है।
  • एक कथावाचक होने के साथ-साथ अलग किशोरी 12वीं कक्षा की एक छात्रा भी है।
  • हिंदी के साथ-साथ अंग्रेजी में भी उनकी अच्छी पकड़ है जिसकी झलक उनके प्रवचनों में देखी जा सकती है।
  • उन्होंने वर्ष 2021 में पहली बार कथा वाचन किया था।
  • वह कथा वाचक जया किशोरी को अपना आदर्श मानती है।
  • उन्होंने कथा वाचन के लिए कोई प्रोफेशनल शिक्षा ग्रहण नहीं की है बल्कि उन्होंने घर में रहकर ही भगवत का अध्ययन किया है।
होम पेजClick Here

FAQ:

पलक किशोरी का जन्म कब और कहां हुआ?

फलक किशोरी का जन्म 24 दिसंबर 2005 को मध्य प्रदेश के सतना में हुआ था।

पलक किशोरी की उम्र कितनी है?

वर्ष 2023 के अनुसार कथावाचक पलक किशोरी की उम्र 18 वर्ष है।

पलक किशोरी का वास्तविक नाम क्या है?

कथावाचक पलक किशोरी का वास्तविक नाम शाम्भवी मिश्रा है।

पलक किशोरी की बहन कौन है?

पलक किशोरी की दो बहने हैं जिनके नाम अपराजिता मिश्रा और अदिति मिश्रा है।

पलक किशोरी ने कथा वाचन कब शुरू किया?

पलक किशोरी ने लॉकडाउन के दौरान वर्ष 2021 में कथा वाचन शुरू किया था, जिसमें उन्होंने पहली बार रीवा की लखौरी बाग स्थित भगवान कृष्ण के मंदिर में कथा वाचन किया था।

इन्हें भी पढ़ें :-

निष्‍कर्ष

दोस्तों मैं आशा करता हूं आपको पलक किशोरी (शाम्भवी मिश्रा) का जीवन परिचय (Palak Kishori Biography In Hindi) वाला ब्लॉग पसंद आया होगा अगर आपको मेरा यह ब्लॉग पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर करें लोगों को भी इसकी जानकारी दें।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment