राम‍नाथ कोविंद का जीवन परिचय | Ramnath Kovind Biography in Hindi

रामनाथ कोविंद का जीवन परिचय, ताजा खबर, कौन हैं. उम्र, सामाजिक कार्य [Ramnath Kovind Biography in hindi (14th President of India, Latest News, Salary, Cast, Net Worth, Family, Age, Wife)

आज यानी 20 जुलाई 2017 को रामनाथ कोविंद जी देश के 14 वें राष्‍ट्रपति चुने गए. इनका शपथ ग्रहण समारोह 25 जुलाई 2017 को तय किया गया हैं. 19 जून 2017 को देश की सत्‍ताधारी राजनैतिक पार्टी बीजेपी के अध्‍यक्ष अमित शाह ने इनका नाम 17 जुलाई 2017 को होने वाले भारत के राष्‍ट्रपति चुनाव के लिए राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की तरफ से सुझाया था.

रामनाथ कोविंद तत्‍कालिक समय में बिहार राज्‍य के राज्‍यपाल रहे, किन्‍तु इससे पहले ये देश की सत्‍ताधारी पार्टी भारतीय जनता पार्टी के नेता थे. इनका राजनैतिक सफर कई मोड़ से गुजरते हुए देखा जा सकता हैं. इन्‍होंने कई तरह की भूमिका में देश मे भाग लिया हैं.

इन्‍होंने एक समाज सेवी, एक वकील और एक राज्‍यसभा सांसद के तौर पर काम करते हुए कमजोर लोगों को हर तरह से लाभ पहुँचाने की कोशिश की. राजनीति में भी इन्‍होंने एक अहम भूमिका निभाई और राज्‍यसभा में रहते हुए कई पदों पर काम किया.

राम‍नाथ कोविंद का जीवन परिचय | Ramnath Kovind Biography in Hindi

राम‍नाथ कोविंद का जीवन परिचय

नाम (Full Name)रामनाथ कोविंद
जन्‍म तारीख (Date of Birth)1 अक्‍टूबर 1945
उम्र (age)77 साल (2022 में)
जन्‍म स्‍थान (Place of Birth)परौख, कानपुर देहात जिला, उत्‍तरप्रदेश, भारत
शिक्षा (Education)वाणिज्‍य में बीए, एलएलबी
स्‍कूल (School)ज्ञात नहीं
कॉलेज (College)कानपुर विश्‍वविद्यालय
राशि (Zodiac Sign)तुला राशि
गृहनगर (Home town)परौख, कानपुर देहात जिला, उत्‍तर प्रदेश, भारत
कद (Height)5 फीट 8 इंच
वजन (Weight)68 किग्रा.
ऑंखो का रंग (Eye’s colour)गहरे भूरे रंग की
बालो का रंग (Hair Colour)सफेद (अर्द्ध गंजापन)
नागरिकता (Nationality)भारतीय
धर्म (Religion)हिन्‍दू
जाति (Cast)अनुसूचित जाति
पेशा (Profession)राजनीतिज्ञ, अधिवक्‍ता भारत के 14वें राष्‍ट्रपति
राजनीतिक दल (Political Party)भारतीय जनता पार्टी
वैवाहिक स्थिति (Metrial Status)विवाहित
शादी की तारीख (Merriage date)30 मई 1974
सैलरी (Salary)5 लाख प्रतिमाह और अन्‍य भत्‍ता
नेटवर्थ (Net Worth)1.41 करोड.
पता (Address)राजभवन, पटना पिन – 800022, बिहार
पसंद (Favorite)योग करना

रामनाथ कोविंद का जन्‍म एवं शुरूआती जीवन [Ramnath Kovind Birth & Early Life]

रामनाथ कोविंद का जन्‍म 1 अक्‍टूबर 1945 को उत्‍तर प्रदेश के कानपुर देहात जिले के परौंख गॉंव में मौइकू लाल और कलावती के यहॉं हुआ था। वह पांच भाई और दो बहनों में सबसे छोटे थे।

उनके पिता एक ‘परौख गांव के चौधरी’, एक ‘वैद्य’ (आयुर्वेद के व्‍यवसायी) थे, जो किराना और परिधान की दुकानों के मालिक थे। जबकि उनकी मॉं एक गृहिणी थीं।

जब कोविंद 5 साल के थे, तब उनके फूस के घर में आग लगने से उनकी मां ने दम तोड़ दिया।

रामनाथ कोविंद की शिक्षा [Ramnath Kovind Education]

एक जूनियर स्‍कूल में जाने के लिए, कोविंद कानपुर गॉंव में प्रतिदिन 8 किमी पैदल चलकर जाते थे, और गॉंव में किसी के पास साइकिल नहीं थी।

वह एक मेधावी छात्र थे जिन्‍होंने अपनी स्‍कूली शिक्षा कानपुर देहात के खानपुर शहर से की। बाद में, वह कानपुर विश्‍वविद्यालय से वाणिज्‍य और कानून की पढ़ाई करने के लिए कानपुर शहर चले गए।

स्‍नातक स्‍तर की पढ़ाई के बाद, उन्‍होंने दिल्‍ली में सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी, जहां उनकी मुलाकात ‘जनसंघ’ के नेता हुकुम चंद से हुई, जिसके बाद उनकी राजनीति में रूचि पैदा हुई।

उन्‍होंने एक वकील के रूप में अपना करियर शुरू किया और 1971 में बार काउंसिल ऑफ दिल्‍ली के साथ एक वकील के रूप में नामांकित हुए।

रामनाथ कोविंद ताजा खबर [Ramnath Kovind Latest News]

रामनाथ कोविंद जी हाल ही में 3 दिवसीय कानपुर दौरे में हैं. और यह दौरा उन्‍होंने रेल यात्रा करते हुए पूरा किया हैं. आपको बता दें कि पिछले 15 साल में यह पहली बार ऐसा हुआ हैं कि भारत के राष्‍ट्रपति रेल यात्रा कर रहे हैं. जी हां 25 जून को हमारे देश के तत्‍कालिक राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद जी अपनी जन्‍म भूमि में अपने पुराने दोस्‍तों एवं रिश्‍तेदारों से मिलने के लिए रेल यात्रा करते हुए यूपी के कानपुर शहर पहुँचे हैं. उनकी यह रेल यात्रा दिल्‍ली के सफदरजंग रेलवे स्‍टेशन से शुरू हुई और कानपुर सेंट्रल स्‍टेशन में जाकर खत्‍म हुई.

इस बीच बुरी खबर ये आई कि राष्‍ट्रपति के आने से शहर में कई जगहों पर जाम लग गया था, इस जाम में गोविंदनगर की एक आईआईए महिला विंग की अध्‍यक्ष वंदना मिश्रा फसी रहने की वजह से मृत्‍यु हो गई. दरअसल वह किसी बीमारी से जूझ रही थी और उसे जल्‍दी अस्‍पताल पहुँचना था. किन्‍तु जाम की वजह से वह नहीं पहुंच पाई और उसकी मृत्‍यु हो गई. यह खबर राष्‍ट्रपति तक पहुंची तो उन्‍होंने इसके लिए दु:ख प्रकट किया. पुलिस कर्मियों ने इसके लिए माफी भी मांगी.

27 जून को राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद जी अपने गॉंव परौंख पहुंचे वहां उन्‍होंने एक सभा को संबोधित किया. कहा कि ‘आज मैं जिस मकाम पर हॅू वह इस मात्रभूमि के कारण पहुँचा हूँ, मेरे परिवार के आशीर्वाद एवं संस्‍कार ही हैं जिसने मुझे यहॉं तक पहुंचाया. संबोधन में बातो ही बातों में राष्‍ट्रपति जी ने अपनी सैलरी की बात भी कहीं उन्‍होंने कहा कि – मै महीने के 5 लाख कमाता हूँ लेकिन 50 प्रतिशत टैक्‍स भरता हूँ. उन्‍होंने ये बात लोगों को देश के विकास कार्यों में अपना योगदान देने के लिए नियमित रूप से टैक्‍स भरने के लिए प्रेरित करने के लिए कही थी.

रामनाथ कोविंद का परिवार [Ram Nath Kovind Family]

पिता (Father’s Name)मैकू लाल
माता (Mother’s Name)कलावती
भाई (Brother’s)4
बहन (Sister’s)3
पत्‍नी (Wife)सविता कोविंद
बेटे का नाम (Son)प्रशांत कुमार
बेटी का नाम (Daughter)स्‍वाति

रामनाथ कोविंद का करियर [Ramnath Kovind Career]

रामनाथ कोविंद ने एलएलबी की डिग्री हासिल की, अत: इन्‍होंने वकालत में भी अपना करियर अजमाया और दक्ष वकील साबित हुए. इनके करियर को दो भागों में देखा जा सकता हैं.

वकालत में करियर:

वकालत करते हुए इन्‍होंने दिल्‍ली हाई कोर्ट में अभ्‍यास किया. यहॉं पर इन्‍होंने केंद्र सरकार के वकील रहते हुए काम किया. दिल्‍ली हाई कोर्ट में इनका कार्यकाल साल 1977 से 1979 तक का रहा. साल 1980 से 1993 के दौरान केंद्रीय सरकार के स्‍टैंडिंग कौंसिल की तरफ से इन्‍होंने सुप्रीम कोर्ट में भी अभ्‍यास किया.

एक राजनेता के रूप में करियर

कोविंद 1991 में भाजपा में शामिल हुए और 1998 और 2002 के बीच भाजपा दलित मोर्चा के अध्‍यक्ष के रूप में कार्य किया। उन्‍होंने तब भाजपा के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता के रूप में कार्य किया और परौंख में अपना पैतृक घर आरएसएस को दान कर दिया। उन्‍होंने घाटमपुर और भेगनीपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा लेकिन दोनों मौकों पर हार गए।

राज्‍यसभा सांसद

कोविंद अप्रैल 1994 में उत्‍तर प्रदेश से राज्‍यसभा सांसद बने और मार्च 2006 तक लगातार दो बार सेवा की। अपने कार्यकाल के दौरान, उन्‍होंने अनुसूचित जातियों और जनजातियों, गृह मामलों, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, सामाजिक न्‍याय के कल्‍याण के लिए संसदीय समिति में कार्य किया। और अधिकारिता, कानून और न्‍याय। वह राज्‍यसभा हाउस कमेटी के अध्‍यक्ष भी थे।

उन्‍होंने डॉ. बीआर अंबेडकर विश्‍वविद्यालय, लखनऊ के बोर्ड प्रबंधन और आईआईएम कलकत्‍ता के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स में भी काम किया हैं। उन्‍होंने संयुक्‍त राष्‍ट्र में भारत का प्रतिनिधित्‍व भी किया है और 2002 में संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा को संबोधित किया हैं।

भारत के राष्‍ट्रपति

उन्‍हें भारत के 14वें राष्‍ट्रपति के रूप में नामित किया गया, 20 जुलाई 2017 को चुनाव जीता और 65.5% वोट प्राप्‍त किये। वह के आर नारायणन के बाद दूसरे दलित अध्‍यक्ष बने, और इस पद के लिए चुने जाने वाले आरएसएस की पृष्‍ठभूमि वाले पहले भाजपा उम्‍मीदवार भी हैं। उन्‍होंने 25 जुलाई 2017 को भारत के 14वें राष्‍ट्रपति के रूप में शपथ ली।

रामनाथ कोविंद द्धारा किये गये कार्य [Ramnath Kovind works]

राज्‍यसभा सांसद पद में कार्यरत रहने के दौरान इन्‍होंने राज्‍यसभा के जिन विशिष्‍ट पदों पर काम किया वे निम्‍न हैं,

  • अनुसूचित जाति और जनजाति पार्लियामेंट्री कमेटी।
  • होम अफेयर्स पार्लियामेंट्री कमेटी।
  • पेट्रोलियम और नूचुरल गैस पर्लिंन्‍ट्री कमेटी
  • सोशल जस्टिस और एम्‍पोवेर्मेंट पार्लियामेंट्री कमेटी
  • लॉ और जस्टिस पार्लियामेंट्री कमेटी
  • राज्‍यसभा चेयरमैन

रामनाथ कोविंद की सामाजिक गतिविधियॉं [Ramnath Kovind Social Activities]

इन्‍होंने समाज के पिछले तब के लोगों के लिए बहुत काम किया. मुख्‍यतौर पर कुछ इस प्रकार हैं-

  • इन्‍होंने अनुसूचित जाति-जनजाति, अल्‍पसंख्‍यक, महिलाओं के लिए अपने कॉलेज के दिनों से ही काम करना शुरू कर दिया था. अपने छात्र काल से ही लोक सेवा करने की वजह से इन्‍हें कई लोगों ने बहुत जल्‍द समझ लिया.
  • समाज में शिक्षा फैलाने के लिए कई बड़े कदम उठाये. अपने 12 वर्ष के राज्‍यसभा के सासंद के तौर पर कार्यरत रहते हुए इन्‍होंने पिछले तबकों में शिक्षा फैलाने पर विशेष जोर दिया।
  • वकालत के दौरान अनुसूचित जाति-जनजाति और महिलाओं के लिए कानूनी रूप से मिलने वाली कई मुफ्त सुविधाओं को पहुँचाया। इनके प्रयासों से ही दिल्‍ली में ‘फ्री लीगल ऐड सोसाइटी’ जैसी संस्‍था अस्तित्‍व में आ सकी।
  • इन्‍होंने इनका कानपुर का पुश्‍तैनी मकान अपने गॉंव वालों को दान कर दिया, जो अब बारातघर के रूप में प्रयोग किया जाता हैं।
  • दलितों के मध्‍य इनकी गहरी पैठ को देखते हुए साल 2012 के उत्‍तरप्रदेश चुनाव में श्री राजनाथ सिंह ने उत्‍तरप्रदेश के दलित क्षेत्रों में पार्टी प्रचार के लिए इनकी मदद ली थी।

रामनाथ कोविंद की संपत्ति (Ramnath Kovind Net Worth)

संपत्ति (Net Worth)1.41 करोड़ (साल 2019 में)
सैलरी (Salary)5 लाख/माह + अन्‍य भत्‍ते (राष्‍ट्रपति के रूप में)

FAQ:

Q. रामनाथ कोविंद कौन हैं?

Ans. भारत के पूर्व राष्‍ट्रपति

Q. रामनाथ कोविंद का जन्‍म कहॉं हुआ था?

Ans. कानपुर के पास स्थित परौख गॉंव में

Q. रामनाथ जी कि पत्‍नी का नाम क्‍या था?

Ans. सविता कोविन्‍द

Q. भारत के 14वें राष्‍ट्रपति कौन हैं?

Ans. 25 जुलाई 2017 को राष्‍ट्रपति का पद रामनाथ कोविंद को प्राप्‍त हुआ जो भारत के 14वें राष्‍ट्रपति थे।

इन्‍हें भी पढ़े

निष्कर्ष

मैं आशा करता हूं की आपको “ राम‍नाथ कोविंद का जीवन परिचय | Ramnath Kovind Biography in Hindiपसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो कमेंट करके अपनी राय दे, और इसे अपने दोस्तो और सोशल मीडिया में भी शेयर करे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment