गुलाबचंद कटारिया का जीवन परिचय | Gulab Chand Kataria Biography In Hindi

गुलाबचंद कटारिया का जीवन परिचय, जीवनी, परिवार, शिक्षा, असम के राज्यपाल (Gulab Chand Kataria Biography In Hindi, Wiki, Family, Education, Birthday, Career, Awards, Wife, Asam Ke New Rajyapal, Net Worth, Children’s, Asam’s Rajyapal (2023), Age, Political party)

देश के कई राज्यों के राज्यपाल बदले गए हैं केंद्र सरकार की अनुशंसा पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 13 राज्यों के राज्यपालों और उपराज्यपालओं में फेरबदल किया है महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी का इस्तीफा मंजूर कर लिया गया है। इनमें एक नाम राजस्थान के दिग्गज भाजपा नेता गुलाबचंद कटारिया का भी शामिल है।j

अपनी बयानबाजी के लिए मशहूर भाजपा नेता गुलाबचंद कटारिया इस समय सदन में नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं, ऐसे में अब उनको एक बड़ी जिम्मेदारी मिली है। गुलाबचंद कटारिया को असम का राज्यपाल बनाया गया है।

चलिए आज के इस लेखक गुलाबचंद कटारिया का जीवन परिचय (Gulab Chand Kataria Biography In Hindi) के जरिए मारवाड़ के इस दिग्गज नेता के सफर के बारे में जानते हैं कि कैसा रहा उनका स्कूल टीचर से गवर्नर तक का सफर……

गुलाबचंद कटारिया का जीवन परिचय | Gulab Chand Kataria Biography In Hindi

गुलाबचंद कटारिया का जीवन परिचय

नाम (Name)गुलाबचंद कटारिया
जन्म (Date Of Birth)13 अक्टूबर 1944
जन्म स्थान (Birth Place)राजसमंद, राजस्थान (भारत)
उम्र (Age)78 वर्ष (2023)
धर्म (Religion)जैन
शिक्षा (Education)बी.एड , विधि स्नातक
स्कूल (School)ज्ञात नहीं
कॉलेज (College)उदयपुर विश्वविद्यालय
लंबाई (Height)ज्ञात नहीं
वजन (Weight)ज्ञात नहीं
पेशा (Profession)राजनीतिज्ञ
राजनीतिक दल (Political party)भारतीय जनता पार्टी
वैवाहिक स्थिति (Marrital Status) विवाहित
पत्नी (Wife)अनीता कटारिया
वर्तमान पता (Present Address)माछलामंगरा, उदयपुर
आंखों का रंग (Eyes Colour)ज्ञात नहीं
बालों का रंग (Hair Colour)ज्ञात नहीं
कुल संपत्ति

कौन है गुलाबचंद कटारिया? (Who Is Gulab Chand Kataria? )

गुलाबचंद कटारिया भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेताओं में से एक हैं। उन्होंने अभी तक 11 चुनाव लड़े हैं, जिसमें से उन्हें 9 चुनाव में जीत मिली है। अभी हाल ही में उन्हें असम के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया है।

गुलाबचंद कटारिया का जन्म एवं शुरुआती जीवन

गुलाबचंद कटारिया का जन्म 11 अक्टूबर 1944 को राजस्थान राज्य के राजसमंद जिले में हुआ था उनके पिता का नाम स्वर्गीय श्री हुक्मीचंद कटारिया है उनकी पत्नी का नाम अनीता कटारिया है और उनकी पांच बेटियां हैं वह एक साधारण परिवार से आते हैं।

अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद उन्होंने एक निजी विद्यालय में शिक्षक के रूप में कार्य करना शुरू किया था यही सेवा संघ में शामिल हो गए और राष्ट्रवाद और देशभक्ति की अलख जगाने वाले कटारिया साहब जनहित के मुद्दों को उठाते रहे इसी क्रम में बीजेपी में शामिल हो गए जो उस समय जनसंघ थी।

गुलाबचंद कटारिया की शिक्षा (Gulab Chand Kataria Education)

उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा उदयपुर से प्राप्त की है उन्होंने वर्ष 1960 में हायर सेकेंडरी की परीक्षा उत्तरीण की थी। जिसके बाद उन्होंने उदयपुर विश्वविद्यालय में दाखिला लिया जहां उन्होंने वर्ष 1970 में अपनी स्नातक की उपाधि प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने वर्ष 1968 में b.ed और वर्ष 1975 में विधि (लॉ) से स्नातक की डिग्री प्राप्त की।

गुलाबचंद कटारिया का परिवार (Gulab Chand Kataria Family)

पिता का नाम (Father Name)हुक्मीचंद कटारिया
माता का नाम (Mother Name)ज्ञात नहीं
पत्नी का नाम (Wife Name)अनीता कटारिया
बच्चों के नाम (Children’s Name)पांच बेटियां (नाम ज्ञात नहीं)

गुलाबचंद कटारिया की शादी (Gulab Chand Kataria Marriage, Wife)

11 अक्टूबर 1944 को राजसमंद जिले के देलवाड़ा में जन्मे गुलाबचंद कटारिया की शादी अनीता कटारिया से हुई है। गुलाब चंद कटारिया और अनीता कटारिया की 5 पुत्रियां हैं।

गुलाबचंद कटारिया का करियर (Gulab Chand Kataria Career)

अपने शिक्षक होने के दौरान कटारिया जी आर एस एस से भी जुड़े रहे व राजनीति में धीरे-धीरे कार्यकर्ता के रूप में कदम रखा इसके बाद उन्होंने पहली बार 1970 में 6वीं राजस्थान विधानसभा के लिए उदयपुर विधानसभा क्षेत्र से नामांकन भरा और जीत हासिल की। खास बात यह है कि वह यहां से लगातार जीतते आ रहे हैं 1977 के बाद 1980 में हुए 7वीं राजस्थान विधानसभा के चुनाव में भी गुलाबचंद ने जीत दर्ज की और दूसरी बार विधानसभा सदस्य बने।

इस दौरान वे 1980 से 1981 तक राजस्थान विधानसभा के प्राक्कलन समिति के सदस्य भी रहे। 1981 से 1985 तक विधायक रहते हुए राजस्थान विधानसभा में प्राक्कलन समिति सदस्य भी रहे।

1989 में गुलाबचंद कटारिया 9वीं लोकसभा के लिए उदयपुर से ही चुने गए और लोकसभा की लोक लेखा समिति के सदस्य भी बनाए गए, इसी के साथ वह लोकसभा की कृषि संबंधी समिति के सदस्य भी रहे।

1993 में गुलाब चंद 10वीं राजस्थान विधानसभा में उदयपुर से निर्वाचित होकर आए, और उनका राजनीतिक कद काफी बढ़ गया। 1993 में उन्हें राजस्थान सरकार में ‘प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा मंत्री’ बनाया गया वह इस पद पर 30 नवंबर 1998 तक रहे।

साल 1998 में गुलाबचंद 11वीं राजस्थान विधानसभा में फिर से चुनकर आए, कांग्रेस सरकार में विपक्ष के विधायक रहते हुए वर्ष 1999 से 2000 तक लोक लेखा समिति और विधानसभा के अध्यक्ष भी रहे।

2003 में गुलाब चंद कटारिया 12वीं राजस्थान विधानसभा में उदयपुर से विजई होकर विधानसभा पहुंचे इस बार राजस्थान में बीजेपी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी और वसुंधरा राजे सरकार में गुलाब चंद्र को ‘लोक निर्माण विभाग और गृहमंत्री’ बनाया गया।

राजस्थान सरकार में गृह मंत्री के पद पर 2008 तक रहे 2008 में गुलाब चंद कटारिया फिर से विजई होकर 13वीं राजस्थान विधानसभा के सदस्य बने इस बार राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनी इस दौरान विपक्ष के नेता रहे।

वर्ष 2013 में गुलाबचंद कटारिया ने सातवीं बार उदयपुर से विधायक बने और 14वीं राजस्थान विधानसभा में पहुंचे इस बार राजस्थान में बीजेपी की जीत हुई, और 2013 में उन्हें राजस्थान सरकार में ‘पंचायती राज्य मंत्री’ बनाया गया। पिछले विधानसभा में भी उन्होंने 9वीं बार जीत हासिल की थी और विधानसभा नेता प्रतिपक्ष बने।

असम के राज्यपाल बने गुलाबचंद कटारिया

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और अपने बयानों के लिए हमेशा पहचाने जाने वाले गुलाब चंद कटारिया को 12 फरवरी 2023 को असम का राज्यपाल बनाया गया है। कटारिया के वर्तमान पद की बात करें तो वह उदयपुर शहर से विधायक हैं और विधानसभा नेता प्रतिपक्ष हैं।

गुलाबचंद कटारिया का जीवन परिचय | Gulab Chand Kataria Biography In Hindi

राजस्थान की सक्रिय राजनीति से असम के राज्यपाल बनने तक कि उनकी यात्रा बहुत ही रोचक है उन्हें कई बार विवादों का सामना करना पड़ा लेकिन हर बार वह जनता के विश्वास पर खरे उतरे हैं।

गुलाबचंद कटारिया द्वारा संभाले गए कुछ पद

पदवर्ष
मंत्री राजस्थान सरकार(प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा, भाषा और संस्कृत शिक्षा, भाषिक अल्पसंख्याक, देवस्थान)1993– 1998
गृह मंत्री, राजस्थान सरकार2004– 2008
मंत्री, राजस्थान सरकार (ग्रामीण विकास और पंचायती राज)2013
गृह मंत्री, राजस्थान सरकार2013–2018
नेता विपक्ष, राजस्थान सरकार2018- 2023
असम के राज्यपालफरवरी- 2023

गुलाबचंद कटारिया से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • उन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक प्राइवेट स्कूल में शिक्षक के तौर पर की थी।
  • उनकी राजनीति की यात्रा युवा मोर्चा के उपाध्यक्ष के तौर पर शुरू हुई थी।
  • उन्होंने अपनी राजनीतिक यात्रा के दौरान हमेशा संघ के विचारों को आगे बढ़ाने की कोशिश की है।
  • उन्होंने 1977 में अपना पहला चुनाव लड़ा और सफल रहे।
  • अभी तक उन्होंने 11 बार चुनाव लड़ा है जिसमें से 9 में उनकी जीत हुई है।
  • वह राजस्थान के गृह मंत्री के पद पर भी रह चुके हैं।
  • वही एक समाज सेवी हैं और हर वक्त समाज की सेवा के लिए तत्पर रहते हैं।

FAQ:

कटारिया कौन सी जाति के हैं?

भील कटारिया भारत में राजस्‍थान राज्‍य में पाए जाने वाले भील समुदाय का एक उप-विभाजन हैं। वे कटारिया भील के रूप में जाने जाते हैं क्‍योंकि वे राजस्‍थान के कटारिया क्षेत्र में रहते हैं।

गुलाबचंद कटारिया की उम्र कितनी हैं?

78 वर्ष (साल 2023 के अनुसार)

गुलाबचंद कटारिया की पत्‍नी कौन हैं?

11 अक्टूबर 1944 को राजसमंद जिले के देलवाड़ा में जन्मे गुलाबचंद कटारिया की शादी अनीता कटारिया से हुई है। गुलाब चंद कटारिया और अनीता कटारिया की 5 पुत्रियां हैं।

गुलाबचंद कटारिया का जन्‍म कब और कहॉं हुआ था?

गुलाबचंद कटारिया का जन्म 11 अक्टूबर 1944 को राजस्थान राज्य के राजसमंद जिले में हुआ था

इन्‍हें भी पढ़ें

निष्‍कर्ष

मैं आशा करता हूं की आपको “गुलाबचंद कटारिया का जीवन परिचय | Gulab Chand Kataria Biography In Hindi” पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो कमेंट करके अपनी राय दे, और इसे अपने दोस्तो और सोशल मीडिया में भी शेयर करे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

1 thought on “गुलाबचंद कटारिया का जीवन परिचय | Gulab Chand Kataria Biography In Hindi”

Leave a Comment