नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय | Neeraj Chopra Biography In Hindi

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय, बायोग्राफी, टोक्‍यो ओलंपिक, गोल्‍ड मेडल विजेता, हाईट, भाले का वजन (Neeraj Chopra Biography In Hindi, Javelin Throw in Hindi, Tokyo Olympic 2021, Gold Medal, Salary, Religion, Net worth)

नीरज चोपड़ा एक भारतीय एथलीट हैं जो भाला फेंक खेल में भारत का प्रतिनिधित्‍व करते हैं। जिन्‍होंने हाल ही में Tokyo Olympics 2021 में भारत का प्रतिनिधित्‍व करते हुए बेहतरीन जैवलिन थ्रो करते हुए फाइनल में अपनी जगह बनाते हुए स्‍वर्ण पदक अपने नाम किया था।

उन्‍होंने फाइनल में अपने पहले ही प्रयास में 87.58 मीटर की दूरी फेंक कर एक रिकॉर्ड सेट का लिया था जिसे कोई भी पार नहीं कर सका। इनके भाला फेंक में बेहतरीन प्रदर्शन करने के कारण उन्‍हें आर्मी में भी शामिल किया गया हैं।

भारत के खिलाड़ियों ने भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में अपने अच्छे प्रदर्शन से सभी का दिल जीता है, आइए इन्हीं में से एक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा के बारे में जानते हैं–

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय | Neeraj Chopra Biography In Hindi

Table of Contents

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय

नाम (Full Name)नीरज चोपड़ा
निक नेम (Nick Name)निज्‍जू
जन्‍म (Date of Birth)24 दिसंबर 1997
उम्र (Age)25 साल (2023 में)
जन्‍म स्‍थान (Birth Place)खंडरा, पानीपत, हरियाणा, भारत
गृहनगर (Hometown)पानीपत, हरियाणा, भारत
शिक्षा (Education)बी.ए. में स्‍नातक
कॉलेज (College)डीएवी कॉलेज, चंडीगढ़ कुरूक्षेत्र विश्‍वविद्यालय, हरियाणा
राष्‍ट्रीयता (Nationality)भारतीय
राशि (Zodiac Sign)मकर राशि
जाति (Caste)हिन्‍दू रोर मराठा
कद (Height)5 फुट 10 इंच
वजन (Weight)64 किलोग्राम (लगभग)
ऑंखो का रंग (Eye Colour)काला
बालो का रंग (Hair Colour)काला
कोच (Coach)उवे होन
पेशा (Profession)जैवलिन थ्रो एथलीट
वैवाहिक स्थिति (Marital Status)अविवाहित

नीरज चोपड़ा कौन हैं? (Who is Neeraj Chopra)

नीरज चोपड़ा का जन्म भारत के हरियाणा में 14 दिसंबर 1997 को हुआ। जब वह 13 साल के थे तो उनके मोटापे के कारण उनके परिवार ने उन्हें पानीपत के एक जिम्मेदार खिला दिलवाया जहां वह रोज जाते और दौड़ते ताकि उनका वजन कम हो।

पेशेवर भाला फेंकने वाले विंझोल के जय वीर को देखने के बाद उन्हें भाला में दिलचस्पी हो गई, उन्होंने जय वीर के साथ प्रशिक्षण शुरू किया तब वह मात्र 14 वर्ष के थे।

नीरज चोपड़ा की शिक्षा (Neeraj Chopra Education)

भारत के महान एथलीट नीरज चोपड़ा ने अपनी पढ़ाई हरियाणा के पानीपत में ही प्रारंभ की एवं अपनी प्रारंभिक शिक्षा को पूर्ण करने के बाद वह चंडीगढ़ आ गए, चंडीगढ़ में एक बीबीए कॉलेज ज्वाइन किया और वहां से उन्होंने अपनी एजुकेशन की डिग्री हासिल की।

नीरज चोपड़ा का परिवार (Neeraj Chopra Family)

भारतीय ट्रैक और फील्ड एथलीट नीरज चोपड़ा के पिता सतीश कुमार एक किसान हैं और उनकी मां सरोजा देवी एक ग्रहणी है। नीरज चोपड़ा की दो बहने हैं। उनको इस कामयाबी तक पहुंचाने में उनके परिवार का पूरा योगदान रहा है। अभी वह 24 वर्ष के हो चुके हैं और अभी उन्होंने शादी नहीं की है।

पिता का नाम (Father’s Name)सतीश कुमार चोपड़ा
माता का नाम (Mother’s Name)सरोज देवी
बहन का नाम (Sister’s Name)संगीता और सरिता

नीरज चोपड़ा का आर्मी सफर

2016 में 86.48 मीटर दूर भाला फेंक,गोल्ड जीत कर देश का सर ऊंचा करने वाले नीरज चोपड़ा को आर्मी ने खुश होकर उन्हें राजपूताना रेजीमेंट में बतौर जूनियर कमीशंद ऑफिसर के तौर पर नायब सूबेदार के पद पर नियुक्त किया।

खिलाड़ियों को ऑफिसर के रूप और पर नियुक्तियां कम ही मिलती है लेकिन नीरज चोपड़ा को उनके प्रतिभा के कारण डायरेक्टर ऑफिसर बना दिया गया। आर्मी में जॉब मिलने के पश्चात नीरज चोपड़ा काफी खुश हुए क्योंकि वह अपने परिवार से ऐसे पहले व्यक्ति थे जिन्होंने सरकारी नौकरी प्राप्त की है।

बजरंग पुनिया का जीवन परिचय

नीरज चोपड़ा का कैरियर (Carerr)

बचपन में स्टेडियम में भाला फेंकने का अभ्यास कर रहे जय वीर चौधरी को देखकर उनके मन में भी भाला फेंकने का शौक चढ़ा गया और वह इसका अभ्यास करने लगे जब उन्होंने वर्ल्ड चैंपियनशिप में खिलाड़ियों को वर्ल्ड रिकॉर्ड कायम करते हुए देखा तो उनकी इच्छा और भी ज्यादा प्रबल हो गई और 2016 में उन्होंने अपना खुद का एक विश्व रिकॉर्ड बनाया है।

इसके बाद 2017 में नीरज चोपड़ा ने ने एशियाई चैंपियनशिप में 50.23 मीटर की दूरी तक भाला फेंक कर इस मैच को अपने नाम किया ,2017 में पहली बार प्रतिष्ठित आईएएएफ डायमंड लीग इंवेंटस में भी भाग लिया और वह सातवें स्थान पर रहे।

इसी वर्ष नीरज चोपड़ा को निराशाजनक रूप से कुछ समय के लिए मैदान से दूर होना पड़ा क्योंकि उस समय उनके अंदर कुछ कमियां थी और वह भाला फेंकने में सक्षम नहीं थे और अंततः वापस आकर उन्होंने अपने संघर्ष को जारी रखा।

नीरज चोपड़ा ने ओवर फोन के माध्यम से जैवलिन थ्रो के क्षेत्र में प्रशिक्षण प्राप्त किया एवं अपने कुशल प्रशिक्षण से कॉमनवेल्थ गेम्स में 86.45 मीटर की दूरी तक भाला फेंक कर गोल्ड मेडल जीता एवं देश का नाम ऊंचा किया।

इसके बाद नीरज चोपड़ा ने 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लिया और एस डायमंड लीग में 87.45 मीटर की दूरी तक भाला फेंक कर अपना प्रदर्शन दिया और उसके बाद उन्होंने एशियाई खेल में 88.06 मीटर की दूरी तक भाला फेंका और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन देकर गोल्ड मेडलिस्ट रहे।

नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय | Neeraj Chopra Biography In Hindi
Neeraj Chopra Image

नीरज चोपड़ा वर्ल्‍ड रैंकिंग (World Ranking)

नीरज चोपड़ा की वर्तमान में विश्‍व रैंकिंग जैवलिन थ्रो की कैटेगरी में चौथे स्‍थान पर हैं। इसके अलावा वे कई मैडल एवं पुरस्‍कार भी जीत चुके हैं। भाविना पटेल पोलियो हाने के बाद भी पैरा ओलंपिक खेल में टेबल टेनिस में रजत पदक हासिल करने वाली भारत की पहली महिला बन गई हैं।

नीरज चोपड़ा बेस्‍ट थ्रो (Neeraj Chopra Best Throw)

नीरज का अब तक का सबसे बेस्‍ट थ्रो आज के टोक्‍यो ओलंपिक के भाला फेंक के फाइनल मैच में 87.58 डिस्‍टेंस का हैं। इससे पहले नीरज चोपड़ा, जो ग्रुप में 15 वें स्‍थान पर भाला फेंक रहे थे। उन्‍होंने 86.65 मीटर का थ्रो फेंका और अपने पहले प्रयास के बाद ही फाइनल के लिए क्‍वालीफाई कर लिया।

नीरज चोपड़ा टोक्‍यो ओलंपिक में (Tokyo Olympic 2020)

साल 2021 में जापान के टोक्‍यो शहर में आयोजित हो रहे ओलंपिक में हिस्‍सा लेकर बेहतरीन खेल का प्रदर्शन करते हुए फाइनल में अपनी जगह पक्‍की कर चुके हैं और ओलंपिक में पदक के मजबूत दावेदार माने जा रहे हैं।

नीरज ने 86.65 मीटर दूरी तक भाला फेक कर फाइनल में अपनी जगह पक्‍की की हैं और इसके साथ-साथ जेवलिन थ्रो के खेल में फाइनल में पहुँचने वाले पहले भारतीय होने का रिकॉर्ड भी बनाया हैं।

नीरज ने फाइनल मैच में भारत के लिए स्‍वर्ण पदक जीतकर भारतीयों का टोक्‍यो ओलंपिक में स्‍वर्ण पदक जीतने का सपना पूरा कर दिया। नीरज ने फाइनल मैच में 87.58 मीटर का दूसरा थ्रो करके स्‍वर्ण पदक अपने नाम कर लिया।

नीरज चोपड़ा को मिले पुरस्‍कार (Neeraj Chopra Awards)

  • 2012 में नीरज चोपड़ा को राष्ट्रीय जूनियर चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल प्राप्त हुआ।
  • 2013 में उन्हें राष्ट्रीय युवा चैंपियनशिप में रजत पदक प्राप्त हुआ।
  • 2016 में नीरज चोपड़ा को एशियाई जूनियर चैंपियनशिप में रजत पदक एवं तीसरा विश्व जूनियर अवार्ड मिला।
  • नीरज चोपड़ा ने 2016 में पोलैंड में 86.48 मीटर दूरी तक भाला फेंक कर नंबर 1 रहे।
  • 2017 में भुवनेश्वर भारत खेल में 85.23 मीटर दूरी तक रहें भाला फेंक कर नंबर 1 रहे, इसी वर्ष उन्हें एशियन एथलीट्स चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल मिला।
  • 2018 मैं पोस्टर वा चेक गणराज्य मैं 80.24 मीटर दूरी तक भाला फेंककर छठवीं रैंक हासिल की।
  • 2018 में गोल्ड कोस्ट ऑस्ट्रेलिया में 86.47 मीटर तक भाला फेंक का पहली रैंक हासिल की। इसी वर्ष उन्हें एशियाई खेल चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक एवं अर्जुन पुरस्कार प्राप्त हुआ।
  • वर्ष 2018 में ही जकार्ता इंडोनेशिया में 88.1 मीटर दूरी तक भाला फेंक कर पहली रैंक हासिल की।

नीरज चोपड़ा की कुल संपत्ति (Neeraj Chopra Net Worth)

नीरज चोपड़ा की कमाई का मुख्‍य स्‍त्रोत भाला फेंकने वाले के रूप में उनका सफल करियर रहा हैं। इसके अलावा, उन्‍हें JSW स्‍पोर्ट्स एंड स्‍पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया से बहुत समर्थन मिलता हैं। उम्‍मीद हैं कि आगे उनकी आय में और भी ज्‍यादा वृद्धि होगी।

कुल संपत्ति (Total Networth 2023)$5 मिलियन
कुल संपत्ति रूपयों में (Net worth in Indian Rupees)36 करोड़ रूपये
महीने की आय (Monthly Income)40 लाख
सालाना आय (Annual Income)5 करोड़

नीरज चोपड़ा का सोशल मीडिया (Neeraj Chopra Social Media)

Instagram@neeraj_chopra
Facebook@neeraj_chopra01
Twitter@neeraj_chopra1

नीरज चोपड़ा के बारे में कुछ रोचक तथ्य (Facts)

  • नीरज चोपड़ा 2016 में अपने दस्तावेज जमा करने के पश्चात भी ग्रीष्मकालीन ओलंपिक खेल के लिए अपना स्थान प्राप्त नहीं कर पाए थे।
  • नीरज चोपड़ा ने वर्नल डेनियल से जर्मनी में अपना प्रशिक्षण प्राप्त किया है।
  • नीरज चोपड़ा मिल्खा सिंह कृष्णा पूनिया और विकास गौड़ा के बाद राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाले चौथे भारतीय व्यक्ति हैं।
  • नीरज चोपड़ा सूबेदार के पद पर रहते हुए भी अपने खेल के अभ्यास को किया करते थे।
  • टोक्यो ओलंपिक में ऐतिहासिक जीत हासिल करने के बाद उन्होंने अपनी उपलब्धि को फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह को समर्पित कर दी।
  • नीरज का जन्‍म हरियाणा के पानीपत के पास खंडरा में एक किसान परिवार में हुआ था।
  • वह अपने गांव के वरिष्‍ठ थ्रोअर (जेवलिन थ्रो) को देखकर प्रेरित हुए थे।
  • वर्ष 2016 में, भारत ने पहली बार जश्‍न तब मनाया, जब उन्‍होंने जूनियर विश्‍व रिकॉर्ड स्‍थापित किया और पोलैंड के बाईडगोस्‍ज्‍ज में आईएएएफ विश्‍व अंडर 20 एथलेटिक्‍स चैम्पियनशिप में स्‍वर्ण पदक जीता था।

FAQ:

नीरज चोपड़ा कौन हैं?

भारतीय एथलीट भाला फेंक खिलाड़ी हैं।

नीरज चोपड़ा का जन्‍म कब हुआ था?

24 दिसंबर, 1997

नीरज चोपड़ा कहॉं के रहने वाले हैं?

हरियाणा

नीरज चोपड़ा कौन सी पोस्‍ट पर हैं?

नीरज चोपड़ा भारतीय सेना में सूबेदार के पद पर हैं।

नीरज चोपड़ा के गुरू का नाम क्‍या हैं?

उवे हॉन – 2017 से 2019 तक रहे नीरज चोपड़ा के कोच

इन्‍हें भी पढ़ें

निष्‍कर्ष

मैं आशा करता हूं की आपको “नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय | Neeraj Chopra Biography In Hindi” पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो कमेंट करके अपनी राय दे, और इसे अपने दोस्तो और सोशल मीडिया में भी शेयर करे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment