गैंगस्टर संजीव जीवा का जीवन परिचय | Gangster Sanjeev Jeeva Biography In Hindi

गैंगस्टर संजीव जीवा का जीवन परिचय, जीवनी, जन्म, उम्र, शिक्षा, परिवार, पत्नी, विवाद, हत्या, मृत्यु (Gangster Sanjeev Jeeva Biography In Hindi, Wiki, Family, Education, Birthday, Career, Age, Marriage, Wife, Children, Crime History, Latest News, Net Worth, Death, Death Resion, Death Place)

दोस्तों पुलिस हिरासत में माफिया अतीक और अशरफ अहमद की हत्या का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि लखनऊ के एससीएसटी कोर्ट रूम में बुधवार 7 जून 2023 को दोपहर में हत्या कर दी गई।

इस हमले में संजीव महेश्वरी उर्फ जीवा की मृत्यु हो गई जो मुख्तार अंसारी के बेहद करीबी बताए जाते हैं और वकील की भेष में आए हमलावर ने कोर्ट रूम में ही रिवाल्वर से उनके ऊपर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी।

दोस्तों आपको बता दें कि संजीव जीवा एक बेहद ही कुख्यात अपराधी था और उसे हत्या के दिन भी भाजपा नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी हत्याकांड के मामले में तारीख पर कोर्ट लाया गया था।

तो दोस्तों आज के आपने लेख गैंगस्टर संजीव जीवा का जीवन परिचय (Gangster Sanjeev Jeeva Biography In Hindi) में हम आपको बताएंगे कि कैसे एक साधारण डेयरी चलाने वाले का बेटा देखते ही देखते अपराध की दुनिया का बादशाह बन गया-

गैंगस्टर संजीव जीवा का जीवन परिचय | Gangster Sanjeev Jeeva Biography In Hindi

Table of Contents

संजीव जीवा कौन है? (Who Is Sanjeev Jeeva?)

संजीव महेश्वरी उर्फ संजीव जीवा एक भारतीय गैंगस्टर था जो कि गैंगस्टर से राजनेता बने मुख्तार अंसारी का बेहद करीबी माना जाता था और बुधवार 7 जून 2023 को लखनऊ के कैसरबाग कोर्ट में दिनदहाड़े विजय यादव नाम के युवक द्वारा गोली मारकर उसकी हत्या कर दी जाती है।

गैंगस्टर संजीव जीवा का जन्म वर्ष 1975 में उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरपुर में हुआ था और उनके पिता ओमप्रकाश महेश्वरी दूध डेरी का व्यवसाय करते थे।

उनकी मां का नाम कुंताई महेश्वरी जो एक ग्रहणी है और उनके परिवार में उनके माता-पिता के अलावा उनके एक भाई राजीव और दो बहने पूनम एवं अनिता है

हालांकि संजीव जीवा के पिता ओमप्रकाश महेश्वरी की पहले भी एक शादी हो चुकी थी और उनसे उन्हें दो बेटियां हुई थी जिनके नाम निशा और सुनीता हैं।

गैंगस्टर संजीव जीवा का जीवन परिचय-

नाम (Name)संजीव महेश्वरी उर्फ संजीव जीवा
पेशा (Profession)गैंगस्टर
जन्म (Date Of Birth)वर्ष 1975
जन्म स्थान (Birth Place)मुजफ्फरपुर उत्तर प्रदेश
उम्र (Age)48 वर्ष (मृत्यु के समय)
नागरिकता (Nationality)भारतीय
गृह नगर (Home Town)लखनऊ, उत्तर प्रदेश
लंबाई (Height)(लगभग) 5 फुट 8 इंच
आंखों का रंग (Eyes Colour)गहरा भूरा
शैक्षिक योग्यता (Education)ज्ञात नहीं
शौक (Hobbies)ज्ञात नहीं
वैवाहिक स्थिति (Marrital Status)विवाहित
कुल संपत्ति (Net Worth)ज्ञात नहीं
मृत्यु (Death Date)7 जून 2023
मृत्यु का कारण (Death Resion)हत्या
मृत्यु का स्थान (Death Place)लखनऊ एससीएसटी कोर्ट

संजीव जीवा की शिक्षा (Gangster Sanjeev Jeeva Education)

दोस्तों हमें गैंगस्टर संजीव जीवा की शिक्षा के बारे में कोई पुख्ता जानकारी प्राप्त नहीं हुई है जैसे ही जानकारी प्राप्त होगी हम उसे आपके लिए जल्द से जल्द अपडेट करने का प्रयास करेंगे।

संजीव जीवा की पत्नी, बच्चे (Gangster Sanjeev Jeeva Wife, Children)

गैंगस्टर संजीव जीवा का विवाह पायल महेश्वरी के साथ हुआ था और उसके तीन बेटे तुषार. हरिओम और वीरभद्र एवं एक बेटी आर्या है।

संजीव जीवा संदीव महेश्वरी से संजीव जीवा कैसे बना?

दोस्तों आपको बता दें कि संजीव महेश्वरी और संजीव जीवा 90 के दशक के सुपरस्टार संजय दत्त का बहुत बड़ा फैन रहा है और उनकी फिल्म को देखने के बाद ही उसने अपने नाम के आगे महेश्वरी के स्थान पर जीवा जोड़ लिया था।

संदीव महेश्वरी और संजीव जीवा अपराध की दुनिया में कैसे आया?

दोस्तों आपको बता दें कि पश्चिमी यूपी से लेकर पूर्वांचल तक आपने आतंक का डंका बजाने वाला कुख्यात माफिया संजीव कभी डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा का सपना देखा करता था।

और किसी राह पर निकल कर उसने एक डॉक्टर के यहां कंपाउंडर की जॉब भी शुरू कर दी थी। और जिस डॉक्टर के यहां वह कार्य करता था उस डॉक्टर के किसी व्यक्ति के पास रुपए फंसे हुए थे जो बार-बार मांगने पर भी वापस नहीं कर रहा था जिसके बाद डॉक्टर ने संजीव को उस व्यक्ति से पैसे वापस लाने के लिए भेजा।

और जब संजीव ने जाकर पैसों का तकादा किया तो उसने तुरंत ही चिकित्सा के रुपए संजीव को लौटा दिए एवं जब संजीव ने चिकित्सक को रुपए दिए तो चिकित्सा कर आश्चर्यचकित हो गया और उसने संजीव को इनाम भी दिया।

इसके बाद संजीव का हौसला इस कदर बढ़ा कि उसने जिस डॉक्टर के यहां नौकरी की उसी का अपहरण कर लिया और एक मोटी रकम फिरौती के तौर पर मांगी।

हालांकि चिकित्सक के परिवार वालों ने संजीव को फिरौती देकर चिकित्सक को छुड़ा लिया परंतु संजीव जी वाह अब चिकित्सक की राह को छोड़कर अपराध की रास्ते पर चल पड़ा था और उसने दवाई के पदों को लिखने के सपने को चकनाचूर कर रंगदारी की चिट्ठियां लिखना शुरु कर दिया।

संजीव जीवा का आपराधिक इतिहास (Gangster Sanjeev Jeeva Career)

अपराध की दुनिया में कदम रखने के बाद संजीव जीवा ने सत्येंद्र बरवाला के साथ अपना गिरोह शुरू करने का फैसला लिया था हालांकि इससे पहले वह हरिद्वार में कई गिरोह का सदस्य रह चुका था।

और कुछ समय बाद वह मुख्तार अंसारी से मिले और उसी के संरक्षण में अपने समूह का प्रबंधन करने लगे और आक्रामक रूप से पूर्वी एवं पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आपराधिक गतिविधियों में शामिल हो गया।

और इसके बाद सर्वप्रथम वह फरवरी 1975 में भाजपा नेता ब्रह्म दत्त द्विवेदी की हत्या के मामले में सुर्खियों में आया था और इस अपराध के लिए उसे आजीवन कारावास की सजा मिली।

👉 यह भी पढ़ें – कजान खान का जीवन परिचय, निधन

इसके बाद एक बार फिर बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या के मामले में उसका नाम एक बार फिर सामने आया और इस मामले में दिल्ली पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और लखनऊ की जेल में बंद कर दिया गया।

संजीव जीवा युवकों को पैसे और अवैध सामान आदि का लालच देकर अपने समूह में शामिल किया करता था और उन्हीं की सहायता से वह हत्या ,लूट ,डकैती ,अपहरण रंगदारी, जालसाजी जैसी घटनाओं को अंजाम दिया करता था। और उसके ऊपर करीब 2 दर्जन से भी ज्यादा केस दर्ज हैं।

संजीव जीवा और मुख्तार अंसारी के संबंध (Gangster Sanjeev Jeeva And Mukhtar Ansari Relationship)

कई रिपोर्ट्स के मुताबिक प्राप्त हो रही जानकारी के अनुसार संजीव जीवा मुख्तार अंसारी के साथ घनिष्ठ रूप से जुड़ा हुआ था और 29 नवंबर 2005 को बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की माफिया रैली में हमले में हत्या कर दी गई थी।

और ऐसा माना जाता है कि कृष्णानंद राय की हत्या उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अफजाल अंसारी की हार के प्रतिशोध में की गई थी।

परंतु जब वर्ष 2019 में मुख्तार अंसारी और उनके भाई अफजाल अंसारी के साथ है संजीव जीवा को दिल्ली की अदालत में पेश किया गया था

तब चश्मदीद गवाहों ने सहयोग नहीं किया और उन्होंने परीक्षण के दौरान विरोधाभासी बयान दिए जिसके कारण उन्हें दोषी नहीं ठहराया गया था।

मुख्तार अंसारी के सबसे भरोसेमंद शार्प शूटर मुंडा के साथ जुड़ने के बाद संजीव का अपराध की दुनिया में बादशाह बनने का सपना करीब पूरा होने के करीब पहुंच गया।

और फिर जीवा मुन्ना के इशारे पर हत्या और वारदातों को अंजाम देने लगा एवं धीरे-धीरे समय के साथ हुआ है मुख्तार के खास सूटर्श में शामिल हो गया।

और इस प्रकार ऐसा बताया जा रहा है कि संजीव जीवा मुख्तार अंसारी के साथ मिलकर अपराध की दुनिया में अपना काम करता था।

संजीव जीवा की मृत्यु, हत्या (Gangster Sanjeev Jeeva Death)

दोस्तों आपको बता दें कि वर्ष 2021 में संजीव जीवा की पत्नी पायल महेश्वरी ने अपने पति संजीव महेश्वरी के लिए सुरक्षा मांगने के लिए तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखा था क्योंकि उन्हें डर था कि उनके पति का जीवन खतरे में है।

जिसके बाद उसे लखनऊ जेल में शिफ्ट किया गया और तब से वह लखनऊ जेल में हाई सिक्योरिटी बैरक में रखा गया था।

परंतु बुधवार 7 जून 2023 को उनकी पत्नी का यह डर सच साबित हो गया जब संजीव जीवा को लखनऊ में कोर्ट के अंदर ही हमलावरों द्वारा गोलियों से भून दिया गया।

इस हमले के दौरान एक पुलिस कॉन्स्टेबल कमलेश और 6 साल की बच्ची एवं 18 महीने का एक बच्चा भी घायल हो गया हालांकि पुलिस हमलावरों में से एक को पकड़ने में कामयाब रही जिसकी पहचान विजय यादव के रूप में की गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार हत्या वाले देना संजीव जीवा मामले की सुनवाई के लिए लखनऊ कोर्ट में लाया गया था और तभी वकीलों की बहस में आए अज्ञात हमलावरों ने फायरिंग कर दी।

संजीव जीवा की कुल संपत्ति (Gangster Sanjeev Jeeva Net Worth)

दोस्तों हमें गैंगस्टर संजीव जीवा की संपत्ति से जुड़ी कोई पुख्ता जानकारी प्राप्त नहीं हुई है जैसे ही जानकारी प्राप्त होगी हम आपके लिए जल्द से जल्द अपडेट करने का प्रयास करेंगे।

संजीव जीवा से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण रोचक तथ्य-

  • संजीव जीवा का जन्म और पालन-पोषण उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरपुर में एक साधारण से हिंदू परिवार में हुआ था।
  • बचपन में संजीव जी वाह बड़ा होकर एक चिकित्सक बनना चाहता था।
  • उसने अपनी शिक्षा को पूरा करके एक चिकित्सा के यहां कंपाउंडर की नौकरी करना भी शुरू कर दी थी।
  • संजीव जीवा ने 1990 के दशक में सर्वप्रथम अपराध की दुनिया में अपने कदम रहे।
  • वह अभिनेता संजय दत्त का बहुत बड़ा फैन था और उसने उनकी फिल्म जीवा को देखने के बाद अपने नाम के साथ जीवा जोड़ लिया था।
  • वर्ष 1986 में है उनके पिता ओमप्रकाश महेश्वरी गांव को छोड़कर मुजफ्फरपुर आकर बस गए थे।
  • 1995 में पहली बार संजीव के ऊपर सिविल लाइन थाने में आईपीसी की धारा 302 का मुकदमा दर्ज हुआ था।
  • संजीव जीवा के ऊपर हत्या, लूट, डकैती, अपहरण, रंगदारी, जालसाजी आदि के दो दर्जन से भी अधिक मामले दर्ज हैं।
  • संजीव जीवा पहली बार भाजपा नेता ब्रह्मदत्त द्विवेदी की हत्या के बाद सुर्खियों में आया था।
  • हत्या के दिन भी उसे है ब्रह्म दत्त द्विवेदी की हत्या मामले में कोर्ट में पेश होने के लिए कहा गया था।
  • कोर्ट में ही उसके ऊपर विजय यादव नाम के व्यक्ति द्वारा ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी गई जिससे संजीव जीवा की मृत्यु हो गई।
होम पेजclick here

FAQ:

संजीव जीवा का जन्म कब और कहां हुआ?

संजीव जीवा का जन्म वर्ष 1975 में उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में हुआ था।

संजीव जीवा की उम्र कितनी है?

मृत्यु के समय अपराधी संजीव जीवा की उम्र 48 वर्ष थी‌।

गैंगस्टर संजीव जीवा की पत्नी कौन है?

गैंगस्टर संजीव जीवा का विवाह है पायल महेश्वरी के साथ हुआ था और उनकी एक बेटी एवं तीन बेटे हैं।

संजीव जीवा की हत्या किसने की?

संजीव जीवा को 7 जून 2023 को लखनऊ कोर्ट में अज्ञात हमलावरों द्वारा मार दिया गया जिनमें से एक की पहचान विजय यादव के रूप में की गई है।

इन्हें भी पढ़ें :-

निष्‍कर्ष

मैं आशा करता हूं की आपको “गैंगस्टर संजीव जीवा का जीवन परिचय (Gangster Sanjeev Jeeva Biography In Hindi) पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया है तो कमेंट करके अपनी राय दे, और इसे अपने दोस्तो और सोशल मीडिया में भी शेयर करे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment